दिल्ली दंगे में आया येचुरी और योगेंद्र यादव का नाम तो भड़के दिग्विजय, दिल्ली पुलिस पर साधा निशाना

बीते फ़रवरी महीनें में नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के विरोध में उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुए दंगे के मामलें में दिल्ली पुलिस की तरफ से दायर सप्लीमेंट्री चार्जशीट में सीपीआई महासचिव सीताराम येचुरी और स्वराज अभियान नेता योगेन्द्र यादव का नाम सह-साजिशकर्ता के तौर पर लिया गया है। इसके साथ ही, अर्थशास्त्री जयति घोष, दिल्ली यूनिवर्सिटी प्रोफेसर अपूर्वानंद और डॉक्यूमेंट्री फिल्ममेकर राहुल राय जैसे बड़े नामों को भी नाम इस चार्जशीट में शामिल किया गया है।

दिल्ली दंगे में सीताराम येचुरी और योगेंद्र यादव का नाम आने के बाद कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह भड़क गए और उन्होनें दिल्ली पुलिस पर ही हमला बोल दिया। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कहा कि भाजपा को बड़ी ग़लतफ़हमी है , कॉमरेड सीताराम यचुरी व योगेंद्र यादव जैसे लोग दिल्ली पुलिस की गीदड़भभकी से डर जाएँगे।

दिल्ली दंगे में नाम आने के बाद सीपीआई महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि दिल्ली पुलिस भाजपा की केंद्र सरकार और गृह मंत्रालय के नीचे काम करती है। उसकी ये अवैध और ग़ैर-क़ानूनी हरकतें भाजपा के शीर्ष राजनीतिक नेत्रत्व के चरित्र को दर्शाती हैं। वो विपक्ष के सवालों और शांतिपूर्ण प्रदर्शन से डरते हैं, और सत्ता का दुरुपयोग कर हमें रोकना चाहते हैं।

गौरतलब है कि पूर्वी दिल्ली में नागरिकता कानून का विरोध कर रहे लोगों ने जमकर आतंक मचाया था, 24 फरवरी को पूर्वोत्तर दिल्ली में सांप्रदायिक झड़पें हुई थीं, जिसमें कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई थी और लगभग 200 लोग घायल हो गए थे।

साथ ही सरकारी और निजी संपत्ति को भी काफी नुकसान पहुंचा था। CAA विरोधी उग्र भीड़ ने मकानों, दुकानों, वाहनों, एक पेट्रोल पम्प को फूंक दिया था और स्थानीय लोगों तथा पुलिस कर्मियों पर पथराव किया। कॉन्स्टेबल रतनलाल की गोली मार कर ह्त्या कर दी गई थी, आईबी अफसर अंकित शर्मा को भी मौत के घाट उतार दिया गया था, इसके अलावा डीसीपी समेत कई पुलिस अधिकारी घायल भी थे।

loading...