दिल्ली दंगे में बड़ा खुलासा: E-वाहन ऐप का इस्तेमाल कर सिर्फ हिन्दुओ की गाड़ियाँ जलाई गई

नई दिल्ली, 23 सितंबर: नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के विरोध में फ़रवरी में दिल्ली में दंगे हुए थे, इस दंगे में चुन-चुनकर निशाना बनाया गया था, तकनीक का इस्तेमाल करके हिन्दुओं की गाड़ियों को जलाकर राख कर दिया गया था. जैसे-जैसे दिल्ली पुलिस की जांच आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं.

दिल्ली पुलिस की जाँच में खुलासा हुआ है कि दिल्ली दंगों में हिन्दुओ की गाड़ियों को पहचानने के लिए इ-वाहन ऐप का इस्तेमाल किया गया, इस वाहन के जरिये आप गाडी मालिक की पूरी डिटेल निकाल सकते हैं, इसके बाद हिन्दू-मुस्लिम की पहचान नाम से कर सकते हैं.

गौरतलब है कि दंगा ग्रस्त इलाकों में बड़े पैमाने पर गाड़ियों को निशाना बनाया गया जो सड़कों पर खड़ी थी, सिर्फ हिन्दुओ की ही गाड़ियाँ जलाई जाये इसकी प्लानिंग की गयी, जिन गाड़ियों पर कोई हिन्दू चिन्ह मिलता उन्हें तुरंत फूंक दिया जाता था.

आपको बता दें कि दिल्ली दंगें में आम आदमी पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन समेत कई दंगाइयों के नाम सामने आये हैं, लोगो ने दंगे के लिए करोडो की फंडिंग भी की थी. ये फंडिंग अरब देशों से हुई थी.

loading...