बाबरी केस: सभी आरोपी बरी, CM योगी बोले- कांग्रेस ने झूठे मुकदमों में फंसाकर हिन्दुओं को बदनाम किया

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में 28 साल बाद बुधवार ( 30 सितंबर, 2020 ) को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया, जस्टिस एस के यादव ने फैसला सुनाते हुए सभी आरोपियों को बरी कर दिया, इस फैसले से पूरे देश में ख़ुशी की लहर है, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फैसले पर ख़ुशी जाहिर करते हुए कांग्रेस से माफ़ी मांगने की मांग की है, योगी ने कहा कि कांग्रेस ने जानबूझकर झूठे मुकदमों में फंसाया था।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सत्यमेव जयते! के साथ ट्वीट करके कहा कि CBI की विशेष अदालत के निर्णय का स्वागत है। तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा राजनीतिक पूर्वाग्रह से ग्रसित हो पूज्य संतों, भाजपा नेताओं, विहिप पदाधिकारियों, समाजसेवियों को झूठे मुकदमों में फँसाकर बदनाम किया गया। सीएम ने अपने ट्वीट में लिखा, इस षड्यंत्र के कांग्रेस को जनता से माफी मांगनी चाहिए।

आपको बता दें कि बाबरी विध्वंस मामलें में सीबीआई स्पेशल कोर्ट के जस्टिस एस के यादव ने फैसला सुनाते हुए कहा कि आरोपियों के खिलाफ कोई पुख्ता सुबूत नहीं मिले हैं, बल्कि आरोपियों ने उन्मादी भीड़ को रोकने की कोशिश की थी। इस मामले में मुरली मनोहर जोशी समेत पूर्व उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी, कल्याण सिंह, उमा भारती और महंत नृत्य गोपाल दास सहित कई बड़े नाम अभियुक्त बनाए गए थे। सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने सभी को बरी कर दिया।