12 साल पहले आज ही के दिन हुआ था बाटला हाउस एनकाउंटर, आतंकियों की मौत पर रोयी थी सोनिया गांधी

12 साल पहले 19 सितंबर 2008 की सुबह यानि आज ही के दिन दिल्ली के बाटला हाउस में एनकाउंटर हुआ था, उससे ठीक एक हफ्ते पहले 13 सितंबर 2008 को दिल्ली में 5 जगहों पर ब्लास्ट हुए थे। तीन जिंदा बम भी मिले थे। 50 मिनट में हुए इन पांच धमाकों में 30 लोग मारे गए थे। इसके बाद बाटला हाउस में छिपे आतंकवादियों को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने भून डाला। इस एनकाउंटर में दिल्ली पुलिस के इन्स्पेक्टर चंद्रमोहन शर्मा शहीद हो गए थे.

जानकारी के अनुसार, 19 सितंबर 2008 को मोहन शर्मा को यह सूचना मिली थी कि इंडिया मुजाहिद्दीन के 5 आतंकी बाटला हाउस के एक मकान में मौजूद हैं। इसके बाद पुलिस टीम सतर्क हो गई। मोहन शर्मा ने भी अपने डेंगू से पीड़ित बेटे को अस्पताल पहुँचाया और पूरी टीम का नेतृत्व करने बाटला हाउस पहुँचे।

आतंकियों के फ्लैट में घुसने पर मुठभेड़ शुरू हुई। इस मुठभेड़ में पुलिस ने दो आतंकियो को ढेर कर दिया। इसी दौरान मोहन शर्मा भी घायल हो गए। बाद में पुलिस ने दो अन्य आतंकियों को भागते हुए गिरफ्तार कर लिया था।

बाटला हाऊस एनकाउंटर पर काफी विवाद हुआ था। कॉन्ग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने तो एक चुनाव प्रचार के दौरान यह भी कहा था कि जब उन्होंने बाटला हाउस एनकाउंटर की तस्वीरें कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी को दिखाईं तो वह रो पड़ी। साथ ही तस्वीरों को देखकर यह भी कहा कि एनकाउंटर की जाँच होनी चाहिए।

इस बार 15 अगस्त को बाटला हाउस एनकाउंटर में शहीद हुए इन्स्पेक्टर चंद्रमोहन शर्मा को मरणोपरांत सातवीं बार वीरता पदक से सम्मानित किया गया.

loading...