आतंकियों के समर्थक बाबर कादरी को आतंकियों ने ही क्यों गोलियों से भूना? सामने आई ये बड़ी वजह

कश्मीर उच्च न्यायालय के वकील बाबर कादरी की गुरुवार को गोली मारकर ह्त्या कर दी गई, पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक बंदूकधारियों आतंकवादियों ने बाबर कादरी को उनके घर पर पॉइंट ब्लैंक रेंज यानी बिल्कुल नजदीक से गोली मारी है। बाबर कादरी का घर श्रीनगर के हवाल इलाके में हैं। घटना के बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई है।

आपको बता दें कि बाबर कादरी पेशे से वकील था, टीवी डिबेट में खूब आता था और जोरदार तरीके से आतंकियों का समर्थन करता था, उनका बचाव करता था, हद तो तब हो गई थी जब बाबर कादरी ने एक बार एक टीवी चैनल के लाइव डिबेट में हिंदुस्तान मुर्दाबाद कह दिया था. इतना सब करने के बावजूद आतंकियों ने बाबर कादरी को नहीं छोड़ा और मौत के घाट उतार दिया।

बाबर कादरी की ह्त्या के बाद लोग हैरान हैं कि आतंकियों के समर्थक को ही आतंकियों ने मौत के घाट उतार दिया, बाबरी कादरी की ह्त्या के पीछे तभी तक दो वजह सामने आई है, पहली वजह यह है कि बाबर कादरी दो आतंकी गुटो की लड़ाई में मारा गया. दूसरी वजह यह सामने आई थी कि बाबर कादरी ने हुर्रियत के खिलाफ कुछ कमेंट कर दिया था. हुर्रियत कश्मीर का अलगाववादी संगठन है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हत्याकांड से कुछ घंटो पहले बाबर कादरी का एक वीडियो भी सामने आया था. लाइव के जरिए वे बार एसोसिएशन कश्मीर के अध्यक्ष मियां कयूम के बारे में बात कर रहे हैं, जो गिलानी के नेतृत्व वाले हुर्रियत के समर्थक हैं. बाबर ने कयूम पर कश्मीरी युवाओं को बेवजह भड़काने और बंदूक, पथराव और अजादी के लिए उकसाने तथा उनके जीवन के साथ खिलवाड़ का आरोप लगाया था. गौरतलब है कि बाबर कादरी खुद भी कई बार अपने भारत विरोधी बयानों के लिए चर्चा में आ चुके हैं. लेकिन बाबर कादरी ने जो हुर्रियत के खिलाफ बोला वही उनकी ह्त्या का कारण बना. हालाँकि जम्मू कश्मीर पुलिस ने अभी तक इस हत्याकांड पर कुछ भी कहने से बच रही है।

loading...