हाथरस काण्ड: आखिर पुलिस ने रात में क्यों कर दिया पीड़िता का अंतिम संस्कार, सामने आई ये वजह!

हाथरस के चंदपा क्षेत्र के बुलगाड़ी में कथित गैंगरेप की शिकार पीड़िता की मौत के बाद पुलिस और जिला प्रशासन ने रात में ही पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया, दिल्ली से शव लाने के बाद पुलिस ने परिवार की इजाजत लेकर लगभग रात को ढाई और 3 बजे के बीच पीड़िता का अंतिम संस्कार किया। पुलिस और जिला प्रशासन द्वारा रात में अंतिम संस्कार कराये जाने को लेकर लोगों में काफी आक्रोश था.

लोग यह जांनना चाहते थे कि आखिर राटा में अंतिम संस्कार क्यों कर दिया, क्यों सुबह होनें का इन्तजार नहीं किया गया, अब इसको लेकर एक बड़ी जानकारी सामने आई है कि रात में पीड़िता का अंतिम संस्कार क्यों किया गया.

जानकारी के अनुसार, खुफिया विभाग ने वरिष्ठ अफसरों को रिपोर्ट दी थी कि विपक्षी दल बुधवार को सड़क पर शव रखकर बड़ा आंदोलन शुरू कर सकते हैं जिसके बाद जिला प्रसाशन ने इसी सियासी बवाल के खौफ से अंतिम संस्कार का नाइट प्लान तैयार किया था। हाईकमान को विश्वास में लेकर रात में ही विरोध के बावजूद अंतिम संस्कार भी कर दिया।

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अगर शव को रखकर आंदोलन किया जाता तो कानून व्यवस्था बिगड़ सकते थी, कोरोना काल में वैसे भी भीड़ जुटना खतरे से खाली नहीं है, इसी को मद्देनजर रखते हुए पुलिस और जिला प्रसाशन ने रात में ही पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया।