नेपाल भागने की फ़िराक में था रिजवी, UP पुलिस ने धर दबोचा, गाड़ी में बैठने से किया इनकार, पलटनें का डर

मेरठ, 14 अगस्त: बेंगलुरु के कांग्रेस पार्टी के दलित विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के भांजे पी. नवीन का सर कलम करनें वाले को 51 लाख रूपये का ईनाम देनें का ऐलान करनें वाले शाहजेब रिजवी को यूपी की मेरठ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, पूर्व सपा नेता शाहजेब रिजवी ने वीडियो जारी कर बेंगलुरु के विधायक के भांजे का सर काटनें वाले को ईनाम देनें का ऐलान किया था.

वीडियो वायरल होनें के बाद शाहजेब रिजवी के खिलाफ मेरठ में IPC की धारा 153A, 505(2) में के तहत केस दर्ज हुआ है, इसके बाद मेरठ पुलिस जुट गई रिजवी के तलाश में, पहले घर पर दबिश दी लेकिन वो फरार था, शाम होते-होते मेरठ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

जानकारी के अनुसार, शाहजेब रिजवी नेपाल भागनें की फ़िराक में था, लेकिन यूपी पुलिस ने बहुत ही अक्लमंदी से काम लेते हुए उसे नेपाल की सीमा पर पहुंचनें से पहले ही धर दबोचा। गिरफ्तार होने के बाद शाहजेब रिजवी ने पुलिस की गाडी में बैठनेँ से साफ़ इनकार कर दिया, रिजवी को गाडी पलटनें का डर था, पुलिस के लाख समझानें के बावजूद गाडी में नहीं बैठा, बार-बार पलटनें का डर सता रहा था, अतः पैदल ही पुलिस के साथ थाने आया.

गौरतलब है कि मंगलवार ( 11 अगस्त, 2020 ) को देर रात बेंगलुरु में हजारों मुस्लिमों ने इकट्ठा होकर कांग्रेस के दलित विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर को जला दिया उसके बाद दो पुलिस स्टेशनों को भी आग के हवाले कर दिया और जमकर तोड़फोड़ की, मुस्लिमों ने इतना आतंक सिर्फ इसलिए मचाया क्योंकि दलित विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के भांजे पी. नवीन ने फेसबुक पर पैगंबर मोहम्मद को लेकर एक पोस्ट की थी जिसे मुस्लिमों ने आपत्तिजनक माना।

इसके बाद मेरठ निवासी शाहजेब रिजवी ने एक वीडियो जारी करके पी नवीन के सर पर 51 लाख इनाम भी रख दिया। शाहजेब रिजवी ने कहा था कि फेसबुक पोस्ट के माध्यम से उसनें ( पी. नवीन ) ने हुजूर के शान में जो गुस्ताखी की है, मैं उसकी कड़ी शब्दों में निंदा करता हूँ, रिजवी ने ऐलान किया था की इस युवक जो सर कलम करके लाएगा उसे मैं 51 लाख का नगद ईनाम दूंगा। रिजवी ने मुस्लिमों से अपील कि है कि सब मिलकर 51 लाख रुपए जमा करो। हालाँकि अब रिजवी यूपी पुलिस की गिरफ्त में है।