बेंगलुरु हिंसा: BJP सांसद सूर्या ने CM येदियुरप्पा से की अपील, योगी सरकार की तरह दंगाइयों की सम्पत्ति जब्त करो

बेंगलुरु, 12 अगस्त: कर्नाटक के बेंगलुरु में मंगलवार ( 11 अगस्त, 2020 ) देर रात दंगे और आगजनी का भीषण नज़ारा देखने को मिला। 1000 से भी अधिक की मुस्लिम भीड़ ने दलित समाज से ताल्लुक रखनें वाले स्थानीय विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर को घेर लिया और तोड़फोड़ शुरू कर दी। उनका आरोप था कि विधायक के रिश्तेदार ने पैगम्बर मुहम्मद को लेकर फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट किया है।

बेंगलुरु में हजारों मुस्लिमों द्वारा की गई इस हिंसा के बाद भाजपा सांसद और युवा नेता तेजस्वी सूर्या ने राज्य के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को पत्र लिखकर अपील की है कि जैसे उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने सार्वजानिक सम्पत्ति को नुकसान पहुंचानें वाले दंगाइयों की सम्पत्ति जब्त की थी, ठीक वैसे बंगलुरु में सम्पत्ति को नुकसान पहुंचानें वालों की सम्पत्ति जब्त की जाय.

बेंगलुरु साऊथ लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने बेंगलुरु में मंगलवार रात हुई साम्प्रदायिक हिंसा के सम्बन्ध मेंकर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को पत्र लिखा है, सूर्या ने अपनें पत्र में लिखा है “कि मैं मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा से अपील करता हूँ, दंगाइयों को चिन्हित करके इनकी संपत्ति जब्त की जाय” ताकि जो सार्वजानिक सम्पत्ति को नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई की जा सके, इसके लिए सूर्या ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार का उदाहरण दिया। बतातें चलें कि यूपी में नागरिकता संसोधन कानून ( CAA ) के विरोध में सार्वजानिक सम्पत्ति को जलानें वाले सभी दंगाइयों को चिन्हित करके योगी सरकार ने उनके तस्वीरें चौराहे पर टंगवा दी थी और जुर्माना भरनें की रशीद घर भेज दी थी।

भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने अपनें पत्र में लिखा है कि बेंगलुरु को शांति और सामंजस्यपूर्ण समाज के लिए जाना जाता है। हमें हर कीमत पर अपने शहर की रक्षा करनी चाहिए।

आपको बता दें कि बीती रात एक हज़ार से ज्यादा की संख्या में मुसलमान इकट्ठे हो गए और दलित कॉन्ग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के रिश्तेदार नवीन की गिरफ्तारी की माँग करने लगे। इसके बाद उन्होंने विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी शुरू कर दी। विधायक के आवास पर बाहर आग लगा दिया, घर के बाहर गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया।

हिंसा के बाद घटनास्थल का मंजर बहुत खौफनाक है, दंगाइयों की भीड़ ने न सिर्फ कांग्रेस के दलित विधायक के आवास को आग के हवाले किया बल्कि स्थानीय पुलिस स्टेशन में भी आग लगाकर तोड़फोड़ की, जिसकी वजह से 2 की मौत हो गई, 60 पुलिसकर्मीं घायल हैं, जिनका ईलाज जारी है, पुलिस ने अभी तक हिंसा को अंजाम देनें के आरोप में 110 उप्रदवियों को गिरफ्तार कर लिया है, मामलें की गम्भीरता को देखते हुए शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है।