दुनिया देख रही है भगवान राम का चमत्कार, घोर राम विरोधी भी अब बन गए रामभक्त!

अयोध्या में 500 वर्षों के इन्तजार के बाद फिर से उसी जगह पर श्री राम मंदिर का पुनर्निर्माण हो रहा है, विदेशी आक्रांता बाबर ने अयोध्या में श्री राम मंदिर को तोड़कर वहां पर बाबरी मस्जिद बना दी थी जिसे राम भक्तों ने तोड़ दिया और सुप्रीम कोर्ट में केस जीतने के बाद आज फिर से उसी जगह पर राम मंदिर पुनर्निर्माण की शुरुआत हो रही है।

अयोध्या में आज राममंदिर का भूमिपूजन होना है, भूमिपूजन से पहले जो कभी घोर राम विरोधी हुआ करते थे वो भी अब अपनें आप को रामभक्त घोषित कर चुके हैं, इसे भगवान राम का चम्तकार नहीं कहा जाय तो और क्या कहा जाय। हालाँकि वो और बात है कि राम मंदिर निर्माण को रोकनें की पुरजोर कोशिश में असफल होनें के बाद ही विरोधी रामभक्त बने हैं, हो सकता है कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान् राम इन्हें माफ़ कर दें।

हालाँकि ये पहले से ही चला आ रहा है कि घोर राम विरोधी भी अंत में रामभक्त बन जाता है और राम-राम जपने लगता है, उदाहरण के तौर पर रावण और उसके पुत्र मेघनाद को ही देख लो, पहले भगवान राम को कुछ नहीं समझते, अंत में मरते-मरते रामभक्त बन गए और मरने से पहले श्रीराम बोलकर आखिरी सांस ली।

आपको बता दें कि आज होनें वाले भूमिपूजन को रोकने के लिए कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और वामपंथियों ने पुरजोर कोशिश की, कोई मुहूर्त का हवाला दिया तो सेकुलरिज्म के खिलाफ बताया, लेकिन इन सबकी एक न चली, आज अयोध्या में राममंदिर का भूमिपूजन होगा और इसका सीधा प्रसारण दूरदर्शन पर होगा।

loading...