कोरोना से नहीं PGI के स्टॉफ की अभद्रता से गई चेतन चौहान की जान, सपा MLC के दावे से मचा हड़कंप

लखनऊ, 22 अगस्त: हाल ही में उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री और पूर्व भारतीय क्रिकेटर चेतन चौहान की कोरोना से मौत हो गई, समाजवादी पार्टी के विधान परिषद के सदस्य सुनील साजन ने दावा किया है कि चेतन चौहान की कोरोना से नहीं बल्कि अस्पताल के स्टाफ के दुर्व्यवहार की वजह से उनकी मौत हुई है।

समाजवादी पार्टी के एमएलसी सुनील साजन ने शनिवार को विधान परिषद में चेतन चौहान के साथ हुई आपबीती बयां की, बकौल सुनील, डॉक्टर और स्टाफ उन्हें वहां पहचानना तो दूर ढंग से बात भी नहीं करते थे।

सपा एमएलसी ने सदन में कहा, गेट से पूछते हैं कि चेतन कौन है? मंत्री बहुत सरल थे। उन्होंने हाथ खड़ा किया। टीम आई और पूछा- चेतन, आपको कब हुआ कोरोना? उन्होंने इस पर अपनी बात बताई। इसी बीच, दूसरा स्टाफ बोला- चेतन, तुम क्या करते हो? मंत्री बोले- वह कैबिनेट मंत्री हैं। इस पर एक अन्य स्टाफ ने पूछा- कहां के? उन्होंने फिर जवाब दिया- उत्तर प्रदेश सरकार के।

बकौल साजन, मैं इस दौरान सोच रहा था कि ये कैसे मंत्री से बदतमीजी से बात कर रहे थे? लेकिन मुझे भरोसा हुआ कि मंत्री ने कहा कि वह यूपी कैबिनेट में मंत्री तो शायद वह शायद वह चेतन जी कहेंगे या आदर कहेंगे। फिर भी पीजीआई के स्टाफ ने कहा- चेतन, तुम्हारे घर में कौन-कौन संक्रमित है? यह सुनते ही मुझे बहुत गुस्सा आया। दुख भी हुआ और सरकार पर गुस्सा आया। सपा एमएलसी ने अंत में कहा कि चेतन चौहान कोरोना की वजह से हमें नहीं छोड़कर गए बल्कि सरकार की अव्यवस्था यानि कि पीजीआई अस्पताल के स्टॉफ के दुर्व्यवहार से हमें आपको छोड़ के गए।

loading...