दोषी करार दिए गए प्रशांत भूषण तो भड़क उठे गुहा, SC पर साधा निशाना, लोकत्रंत के लिए बताया काला दिन!

नई दिल्ली, 14 अगस्त: अदालत की अवमानना मामलें में कार्यवाही करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने वकील प्रशांत भूषण को दोषी करार दिया है और 20 अगस्त को सजा का ऐलान होगा। प्रशांत भूषण के दोषी करार होनें के बाद इतिहासकार रामचंद्रगुहा भड़क गए हैं, गुहा ने न सिर्फ सुप्रीम कोर्ट पर निशाना साधा है बल्कि लोकतंत्र के लिए इसे काला दिन बताया है।

इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने अपनें ट्वीट में लिखा, इस फैसले से सुप्रीम कोर्ट ने खुद को नीचा दिखाया है, साथ ही गणतंत्र को भी नीचा दिखाया है। गुहा आगे लिखते हैं, भारतीय लोकतंत्र के लिए एक काला दिन है।

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने वकील प्रशांत भूषण को अवमानना का दोषी माना है, सज़ा पर 20 अगस्त को बजस होगी। कार्रवाई भूषण के 2 ट्वीट के लिए शुरू की गई थी। ये विवादित ट्वीट वर्तमान CJI और 4 पूर्व CJI को लेकर किए गए थे। भूषण की तरफ से दलील दी गई थी कि जज की आलोचना SC की अवमानना नहीं, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने एक नहीं सुनी और उन्हें दोषी करार दिया।

सुप्रीम कोर्ट ने न्यायपालिका के प्रति दो अपमानजनक ट्वीट करने के मामले में अधिवक्ता प्रशांत भूषण के खिलाफ स्वत: शुरू की गई अवमानना कार्यवाही में भूषण को अवमानना का दोषी माना है। न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा, न्यायमूर्ति बी आर गवई और न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी की पीठ ने इस मामले में भूषण को दोषी माना। कानून के जानकारों का कहना है कि प्रशांत भूषण को कम से कम 6 महीनें की सजा मिल सकती है।

loading...