महबूबा मुफ़्ती की रिहाई के लिए राहुल गांधी ने अलापा लोकतंत्र का राग, चिदंबरम ने दी कानून की दुहाई

जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटनें के बाद से हिरासत में ली गई पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ़्ती की रिहाई के लिए राहुल गांधी ने लोकतंत्र का राग अलापा है।

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती के समर्थन में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि लोकतंत्र को उस समय ज्यादा नुकसान पहुंचता है जब भारत सरकार गैरकानूनी तरीके से सियासी दलों के नेताओं को हिरासत में लेती है। ये बेहद सही समय है जब महबूबा मुफ्ती को छोड़ा जाए।

पिछले साल जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से ही पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती हिरासत में हैं। हालांकि, लगातार उनके परिवार की ओर से उन्हे रिहा करने की मांग की जा रही है। इसी बीच राहुल गांधी ने एक ट्वीट किया है। इस ट्वीट में उन्होंने महबूबा मुफ्ती के रिहाई की मांग की है।

इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और देश के पूर्व गृह एवं वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के समर्थन में ट्वीट कर कहा कि PSA के तहत सुश्री महबूबा मुफ्ती की नजरबंदी का विस्तार कानून का दुरुपयोग है और नागरिकों के संवैधानिक अधिकारों पर हमला है। 61 वर्षीय पूर्व मुख्यमंत्री, चौबीसो घंटे सुरक्षा गार्ड से संरक्षित व्यक्ति, सार्वजनिक सुरक्षा के लिए खतरा कैसे है?

Sponsored Articles
loading...