बुरी तरह फंसे प्रशांत भूषण, रहम देने के मुड़ में नहीं है सुप्रीम कोर्ट, 7 दिन बाद अगली सुनवाई?

नई दिल्ली, 10 अगस्त: सुप्रीम कोर्ट के दिग्गज वकील प्रशांत भूषण बुरी तरीके से फंस चुके हैं, सुप्रीम कोर्ट ने स्वतः संज्ञान लेते हुएप्रशांत भूषण के खिलाफ अदालत की अवमानना की कार्यवाही शुरू की है, वरिष्ठ वकील भूषण ने स्पष्टीकरण भी दिया लेकिन सुप्रीम कोर्ट रहम करनें के मुड़ में नहीं दिखाई दे रहा है।

सीनियर वकील प्रशांत भूषण के खिलाफ उच्चतम न्यायालय की अवमानना के 11 साल पुराने मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. जहां कोर्ट ने प्रशांत भूषण के स्पष्टीकरण को मंजूर करने से इनकार कर दिया. मामले की अगली सुनवाई 17 अगस्त को होगी. सुप्रीम कोर्ट को ये तय करना था कि मामले में वह स्पष्टीकरण को मंजूर करे या अदालत की अवमानना के लिए कार्रवाई आगे बढ़े।

आपको बता दें कि आज से 11 साल पहले 2009 में प्रशांत भूषण ने तहलका को दिए गए एक इंटरव्यू में आरोप लगाया था कि भारत के 16 मुख्य न्यायाधीशों में से आधे यानि भ्रष्ट थे. प्रशांत भूषण ने इस मामले में कोर्ट में अपना स्पष्टीकरण दिया है जबकि तहलका के संपादक तरुण तेजपाल ने माफी मांगी है।

पिछली सुनवाई में भूषण ने 2009 में दिए अपने बयान पर खेद जताया था लेकिन बिना शर्त माफ़ी नहीं मांगी थी. भूषण ने कहा कि तब मेरे कहने का तात्पर्य भ्रष्टाचार कहना नहीं था बल्कि सही तरीक़े से कर्तव्य न निभाने की बात थी।

loading...