मौलाना साजिद रशीदी ने दी खुली धमकी, कहा- मस्जिद बनाने के लिए तोडा जाएगा राम मंदिर

कल ( 5 अगस्त 2020 ) को अयोध्या में राम मंदिर का भूमिपूजन कार्यक्रम सम्पन्न हुआ, इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल थे, भूमिपूजन होनें के साथ ही अयोध्या में राम मंदिर निर्माण कार्य आरम्भ हो गया. राममंदिर निर्माण शुरू होनें से देश में एक तरफ ख़ुशी की लहर है तो वहीँ मौलाना साजिद रशीदी ने विवादित बयान देते हुए मंदिर तोड़कर मस्जिद बनानें की धमकी दी है, साजिद रशीदी ने कहा है कि मंदिर को गिराने के बाद मस्जिद का निर्माण तो नहीं किया गया था, लेकिन अब हो सकता है कि मस्जिद बनाने के लिए मंदिर तोड़ा जाए।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक, ऑल इंडिया इमाम असोसिएशन के अध्यक्ष मौलाना साजिद रशीदी ने कहा, “इस्लाम कहता है कि एक मस्जिद हमेशा एक मस्जिद होगी। इसे कुछ और बनाने के लिए नहीं तोड़ा जा सकता है। हम मानते हैं कि यह था, और हमेशा एक मस्जिद रहेगी। मंदिर को गिराने के बाद मस्जिद का निर्माण नहीं किया गया था, लेकिन अब मस्जिद बनाने के लिए हो सकता है मंदिर को तोड़ा जाए। साजिद रशीदी ने यह धमकी राममंदिर भूमिपूजन होनें के बाद दी है।

आपको बता दें कि राममंदिर भूमिपूजन से पहले ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने धमकी देते हुए कहा था कि मुस्लिम मायूस न हों, मौका मिलते ही दुबारा हटा देंगे अयोध्या से राम मंदिर, वहां बाबरी मस्जिद थी, है और रहेगी। वहीँ ओवैसी का भी कहना था कि अयोध्या में बाबरी मस्जिद थी, है और रहेगी। उन्होंने यहाँ भी कहा था वहां मंदिर बनाकर बहुत गलत किया जा रहा है, सेकुलरिज्म के खिलाफ है ये।

ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, मौलाना साजिद रशीदी और ओवैसी जैसे नेताओं नेताओं के बयान के बाद यह साफ़ है की ये सब ना केवल राम मंदिर को हटाने की धमकी दे रहा हैं बल्कि सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ एक नफरत का माहौल बनाने की तैयारी कर रहा हैं। क्यूंकि सुप्रीम कोर्ट के फैंसले के बाद ही अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो रहा है।

loading...