ममता बनर्जी ने शुरू किया मुस्लिम तुष्टिकरण, मुस्लिम छात्रों को देंगी ये सुविधा, हिन्दू रहेंगें वंचित

कोलकाता, 6 अगस्त: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव नजदीक आते देख एक विशेष वर्ग को खुश करनें के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मुस्लिम तुष्टिकरण शुरू कर दिया है, सीएम ममता बनर्जी छात्रों के लिए एक ऐसी योजना की शुरुवात करनें जा रही हैं जिसका लाभ सिर्फ अल्पसंख्यकों को मिलेगा जिसमें 98 फीसदी मुस्लिम हैं, हिन्दू छात्र इस लाभ से वंचित रह जायेंगें। ममता बनर्जी की इस योजना पर भाजपा ने आपत्ति जताई है और इसे मुस्लिम तुष्टिकरण करार दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने एक नया प्रोजेक्ट शुरू किया है, जिसका नाम है ओइकोश्री, ओइकोश्री प्रोजेक्ट एक माइनॉरिटी स्कॉलरशिप प्रोग्राम है. इस प्रोग्राम के तहत तकरीबन 38 लाख अल्पसंख्यक छात्रों को स्कॉलरशिप दी जाएगी, जिसमें से 98 प्रतिशत सिर्फ मुस्लिम छात्र हैं।

इसके अलावा ममता बनर्जी सरकार कन्याश्री प्रोजेक्ट भी शुरू कर रही है. यह प्रोजेक्ट बंगाल की छात्राओं के लिए है, जिसमें विशेष रूप से मुस्लिम छात्राएं भी शामिल हैं, इस लाभ से भी हिन्दू छात्राएं वंचित रहेंगीं। कन्याश्री प्रोजेक्ट के तहत हर साल 38 लाख लड़कियों को लाभ मिलेगा. साथ ही सबुजसाथी नाम के प्रोजेक्ट के तहत स्कूल जाने वाले छात्रों को साइकिल भी मिलेगी। हालाँकि ये सब लाभ सिर्फ मुस्लिम समुदाय से तालुक रखनें वाले छात्र-छत्राओं को मिलेंगें। हिन्दुओं को नहीं।

ममता बनर्जी सरकार द्वारा मुस्लिम छात्रों के लिए शुरू किए जा रहे इन प्रोजेक्ट्स को बीजेपी ने अल्पसंख्यक तुष्टिकरण बताया है, भाजपा के वरिष्ठ नेता राहुल सिन्हा का मानना है कि ऐसी योजनाएं शुरू करके मुख्यमंत्री ममता बनर्जी विशुद्ध रूप से मुस्लिम वोट खरीदने की तैयारी कर रही हैं, वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा, हिंदुओं ने क्या गलत किया है? उनका क्या जो मेधावी हैं, लेकिन दलित हैं? उन्हें छात्रवृत्ति के पैसे क्यों नहीं मिलते? आखिर कब तक हिन्दुओं को टारगेट किया जाएगा।

loading...