महाराष्ट्र: लैब टेक्नीशियन की शर्मनाक करतूत, कोरोना टेस्ट के बहानें युवती के प्राइवेट पार्ट का लिया सैम्पल

अमरावती, 1 अगस्त: देशभर में कोरोना वायरस का कहर जारी है, मेडिकल से जुड़े कुछ लोग कोरोना का फायदा उठाकर शर्मनाक कृत्य भी करनें में जुटे हैं, जी हाँ! महाराष्ट्र के अमरावती से एक लैब टेक्नीशियन की शर्मनाक करतूत सामनें आई है, जहाँ इसने कोरोना टेस्ट के बहानें एक युवती के प्राइवेट पार्ट का सैम्पल लिया। इस घटना की जानकारी जब परिजनों को हुई तो उन्हें लैब टेक्नीशियन की नियत पर शक हुआ।

इसके बाद युवती के परिजनों ने डॉक्टरों से पूछा कि क्या इस तरह की जांच ( प्राइवेट पार्ट का सैम्पल ) हो रही है तो डॉक्टरों ने बताया कि ऐसा कोई सैम्पल ( नमूना ) नहीं लिया जा रहा है. इसके बाद युवती की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी लैब टेक्नीशियन के खिलाफ मामला दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया। ये पूरा मामला अमरावती के एक कोविड ट्रामा सेंटर का है।

दरअसल अमरावती के एक सर्विस सेंटर में युवती काम करती थी, वहां एक कर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव निकलनें के बाद 28 जुलाई को सभी कर्मचारियों का टेस्ट अमरावती के एक सरकारी लैब कोविड ट्रामा सेंटर में कराया गया. कोरोना टेस्ट के दौरान लैब गई लड़की को आरोपी लैब टेक्नीशियन अशोक देशमुख ने कहा कि कोरोना वायरस के सटीक परिक्षण परिणामों के लिए प्राइवेट पार्ट का सैम्पल लेना जरुरी है।

टेस्ट कराकर घर लौटी युवती इन इस बात की जानकारी अपनें परिजनों को दी, इसके बाद परिजनों ने डॉक्टरों से पूछा कि क्या इस तरह की जांच ( प्राइवेट पार्ट का सैम्पल ) हो रही है तो डॉक्टरों ने बताया कि ऐसा कोई सैम्पल ( नमूना ) नहीं लिया जा रहा है. इसके बाद युवती की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी लैब टेक्नीशियन के खिलाफ मामला दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया।

आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले डॉ तुफैल अहमद ने यूपी के अलीगढ़ के दीनदयाल हॉस्पिटल में चेकअप के बहानें कोरोना संक्रमित युवती से छेड़छाड़ व् दुष्कर्म करनें का प्रयास किया था, शिकायत के बाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। ऐसे लोग धरती का भगवान कहे जाने वाले डॉक्टरी के पेशे पर दाग लगानें का काम कर रहे हैं।

Sponsored Articles
loading...