कपिल मिश्रा ने यशवंत सिन्हा को दिया जवाब, कहा- तुम्हारा बाप भी 370 वापस नहीं करवा सकता

नई दिल्ली, 25 अगस्त: जम्मू कश्मीर के कुछ राजनैतिक दल एकजुट होकर धारा 370 के बहाली की मांग कर रहे हैं, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने भी धारा 370 की बहाली का समर्थन किया है, सिन्हा को जवाब देत्ते हुए भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने कहा कि अब तुम्हारा बाप भी 370 वापस नहीं करवा सकता।

दरअसल पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने अपने ट्वीट में लिखा, धारा 370 की बहाली के लिए एकजुट हुए जम्मू कश्मीर के सभी राजनीतिक दलों का स्वागत करता हूँ, सिन्हा ने आगे लिखा, जम्मू कश्मीर को फिर से पहले की तरह एक राज्य होना चाहिए और धारा 370 व् 35A को वापस लिया जाना चाहिए। सिन्हा ने कहा कि मैं जम्मू कश्मीर के लोगों के साथ खड़ा हूँ। यशवंत सिन्हा को जवाब देते हुए भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने लिखा, तुम्हारा बाप भी नहीं करवा सकता 370 वापस, बताते चलें कि केंद्र की मोदी सरकार ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए आज से एक साल पहले ( 5 अगस्त, 2019 ) को कश्मीर से धारा 370 हटा दिया और जम्मू कश्मीर को केंद्र साशित प्रदेश घोषित कर दिया।

जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद जम्मू कश्मीर के सभी राजनितिक दलों में खलबली मच गई तो वहीँ कांग्रेस ने इसे असंवैधानिक करार दिया और कहा कि मोदी सरकार ने कश्मीर से धारा 370 हटाकर लोकतंत्र का मर्डर किया है, अब कश्मीर के सभी राजनितिक दल एकजुट हो गए हैं और कश्मीर में धारा 370 की बहाली की मांग कर रहे हैं। कांग्रेस भी पार्टी इन सभी दलों का समर्थन कर रही है.

आपको बता दें कि कश्मीर की सभी बड़ी राजनीतिक पार्टियों ने अनुच्छेद 370 की बहाली के लिए साथ आने का ऐलान किया है। जम्मू-कश्मीर के सियासी दलों ने शनिवार को इसका घोषणा पत्र जारी किया। संयुक्त बयान में कहा गया है कि 5 अगस्त 2019 की घटना ने केंद्र सरकार और जम्मू-कश्मीर के रिश्ते को पूरी तरह से बदल दिया है, रिश्तों को फिर से मिलाने के लिए जम्मू कश्मीर में फिर से धारा 370 लागू किया जाय। कश्मीर में अनुच्छेद 370 की बहाली के लिए दलों ने जो घोषणा पत्र बनाया है उसमें नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला, पीडीपी की महबूबा मुफ्ती, जेकेपीसीसी के जीए मीर, माकपा के एमवाई तारीगामी, जेकेपीसी के सज्जाद गनी लोन, जेकेएएनसी के मुजफ्फर शाह के नाम शामिल हैं।

आपको बता दें कि धारा 370 हटाकर मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर को केंद्रसाशित प्रदेश कर दिया, अब कश्मीर में भारत का तिरंगा लहराता है, कोई भी व्यक्ति कश्मीर का स्थाई नागरिक बन सकता है अन्य कई बड़े परिवर्तन हुए धारा 370 हटने से।

loading...