फेसबुक ने कांग्रेस के आरोपों का दिया दो टूक जवाब, जाने कांग्रेस ने क्या आरोप लगाए थे!

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने कांग्रेस के उन आरोपों पर दो टूक जवाब दिया है जिसमें भाजपा की सत्ताधारी पार्टी से पक्षपात का आरोप लगाया था। सोमवार को फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी नफ़रत और हिंसा फैलाने वाले किसी भी भाषण और सामग्री को प्रतिबंधित करती है। उन्होंने कहा हम पूरे विश्व स्तर पर अपनी नीतियों को लागू करते हैं। इस दौरान किसी भी पार्टी की राजनीति स्थिति और संबद्धता को ध्यान नहीं दिया जाता। हम निष्पक्षता और सटीकता को सुनिश्चित करने के लिए नियमित ऑडिट करते हैं।

इस तरह से फेसबुक ने अपने ऊपर लगे उन सभी आरोपों को ख़ारिज कर दिया है जिसमें ये कहा गया कि वो सत्तारूढ़ पार्टी का पक्षपाती है।

गौरतलब है कि रविवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीजेपी और संघ पर निशाना साधा था। उन्होंने ट्वीट करके कहा था कि “भारत में बीजेपी और आरएसएस फेसबुक और व्हाट्सएप पर नियंत्रण रखते हैं। वे इसके माध्यम से मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए फर्जी ख़बरें और नफ़रत फैलाते हैं। आख़िरकार अमेरिकन मीडिया ने फेसबुक से जुड़े सच को सामने रखा।

इसके बाद भाजपा नेता और केंद्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर पलटवार करते ट्वीट किया। जो हारने वाले लोग अपनी ही पार्टी में लोगों को प्रभावित नहीं कर सकते, वे ऐसा माहौल बनाते रहते हैं कि पूरी दुनिया पर भाजपा और आरएसएस का नियंत्रण है।