बेंगलुरु हिंसा: दीपक चौरसिया बोले- इस हिंसा ने जय भीम-जय मीम का नारा लगाने वालों की पोल खोल दी?

बेंगलुरु, 12 अगस्त: कर्नाटक के बेंगलुरु में मंगलवार ( 11 अगस्त, 2020 ) देर रात दंगे और आगजनी का भीषण नज़ारा देखने को मिला। 1000 से भी अधिक की मुस्लिम भीड़ ने दलित समाज से ताल्लुक रखनें वाले स्थानीय विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर को घेर लिया और तोड़फोड़ शुरू कर दी। उनका आरोप था कि विधायक के रिश्तेदार ने पैगम्बर मुहम्मद को लेकर फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट किया है।

बेंगलुरु में हजारों मुस्लिमों द्वारा अंजाम दी गई साम्प्रदायिक हिंसा को लेकर पत्रकार दीपक चौरसिया ने कहा है कि बेंगलुरु में जो कुछ हुआ उससे जय भीम और जय मीम कहनें वालों की पोल खुल गई।

न्यूज़ नेशन के कंसल्टिंग एडिटर और वरिष्ठ पत्रकार दीपक चौरसिया ने बेंगलुरु दंगें को लेकर अपनें ट्वीट में लिखा, बेंगलुरु में जो कुछ हुआ वो जय भीम और जय मीम कहनें वालों की पोल खोलता है, चौरसिया आगे लिखते हैं, दलित मुस्लिम एकता के खोखले नारे लगाने वाले सेक्युलर लोगों को बाबा साहेब के इस्लाम के बारे में क्या क्या लिखा था ये पढ़ना चाहिए।

आपको बता दें कि बीती रात एक हज़ार से ज्यादा की संख्या में मुसलमान इकट्ठे हो गए और दलित कॉन्ग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के रिश्तेदार नवीन की गिरफ्तारी की माँग करने लगे। इसके बाद उन्होंने विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी शुरू कर दी। विधायक के आवास पर बाहर आग लगा दिया, घर के बाहर गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया।

हिंसा के बाद घटनास्थल का मंजर बहुत खौफनाक है, दंगाइयों की भीड़ ने न सिर्फ कांग्रेस के दलित विधायक के आवास को आग के हवाले किया बल्कि स्थानीय पुलिस स्टेशन में भी आग लगाकर तोड़फोड़ की, जिसकी वजह से 2 की मौत हो गई, 60 पुलिसकर्मीं घायल हैं, जिनका ईलाज जारी है, पुलिस ने अभी तक हिंसा को अंजाम देनें के आरोप में 110 उप्रदवियों को गिरफ्तार कर लिया है, मामलें की गम्भीरता को देखते हुए शहर में कर्फ्यू लगा दिया है.

loading...