कोरोना संकट से उत्तर कोरिया में बढ़ी भुखमरी, तानाशाह किम जोंग ने दिया कुत्ता खाने का आदेश

चीन के वुहान शहर से फैला कोरोना वायरस पूरी दुनिया में कहर बरपा रहा है, कोरोना वायरस से न सिर्फ लोगों की मौत हो रही है बल्कि ज्यादातर गतिविधियों के बंद होनें से अर्थव्यवस्था भी पटरी से उतर रही है, कोरोना वायरस की मार से उत्तर कोरिया भी नहीं बच पाया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोरोना वायरस अब उत्तर कोरिया में विकराल रूप धारण कर चुका है, जिसकी वजह से तानाशाह किम जोंग के आदेश पर देश के अधिकतर शहरों में लॉकडाउन लगा दिया गया है, लॉकडाउन के कारण अब उत्तर कोरिया में भुखमरी बढ़ रही है।

कोरिया के एक अख़बार के मुताबिक़, भुखमरी से निपटने के लिए तानाशाह किम जोंग ने नई योजना तैयार की है। किम जोंग उन ने देश में भुखमरी को खत्म करने के लिए अब पालतु कुत्तों को मारकर खाने का ऑर्डर देंगे। जिससे देश में भुखमरी कम होगी।

किम जोंग उन के इस फैसले से हर कोई हैरान है, लेकिन उनके लिए यह आम बात है। किम के आदेश से कुत्तों को पालने वाले लोग बेहद डरे हुए हैं और इस बात को लेकर फिक्रमंद हैं जिन्हें वे प्यार से पाल रहे थे उन्हें अब मारने का आदेश दिया गया है। यूं तो हमेशा से ही किम जोंग उन अपने तानाशाह रवैये को लेकर चर्चा में रहते हैं, लेकिन इस बार उन्होंने अजीब ही फरमान निकाला है। किम जोंग के फैसले के खिलाफ कोरिया के किसी भी सख्श में आवाज उठाने की साहस नहीं है। कहा जाता है कि किम जोंग से खिलाफत करने वाले को भूखे कुत्तों के सामने फेंक दिया जाता है।

बताया जा रहा है कि किम जोंग उन ने इस साल जुलाई में घोषणा की थी देश में अब कुत्ता पालना अवैध है। उत्तर कोरिया में अधिकारियों ने ऐसे घरों की पहचान करना शुरू कर दी है जिनमें कुत्ते पाले जा रहे हैं। लोगों से जबरन उनके कुत्ते छीने जा रहे हैं। और इन कुत्तों को सरकारी चिड़ियाघरों में रखा जा रहा है ताकि यहां इनका मांस निकालकर रेस्त्रां को बेचा जा सके। और भुखमरी को कुछ हद तक कम किया जा सके।