हिन्दू एकजुट हुए तो कांग्रेसी पहनेंगे कोट पे जनेऊ, सत्य हुई वीर सावरकर की बात, रामभक्त बने कांग्रेसी

बुधवार ( 5 अगस्त 2020 ) यानि आज अयोध्या में राममंदिर का भूमिपूजन होगा, भूमिपूजन से पहले रामविरोधी भी अब श्री राम और हनुमान भक्ति के रंग में रंगे नजर आ रहे हैं और इसी के साथ ही आज अमर क्रांतिकारी वीर सावरकर की बात भी सत्य हो गई। सावरकर ने कहा था कि अगर हिन्दू एकजुट हुए तो कांग्रेसी भी कोट पर जनेऊ पहनेंगे, सावरकर ने तब कहा था कि उन्होंने कॉन्ग्रेसवादी हिंदुओं को न सिर्फ शरीर पर बल्कि कोट पर जनेऊ पहन कर संघटनी सिद्धांतों का प्रचार करने के लिए बाध्य कर दिया। और आज हो भी रहा है।

कांग्रेस नेता कमलानथ मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ रामभक्त और हनुमान भक्त बन गए हैं तो छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेसी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रामायण से जुड़े पर्यटन स्थलों को विकसित करने की बातें कर रहे हैं, प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी भूमिपूजन से पहले खुद को रामभक्त घोषित कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सावरकर ने यह बात तत्कालीन राजनीति के संदर्भ में कही थी लेकिन ये आज भी प्रभावी है। महाराष्ट्र के सावरकर स्मारक के अध्यक्ष और वीर सावरकर के पोते रंजीत सावरकर ने मीडिया से बात करते हुए उनके इस बयान की पुष्टि की। उन्होंने जुलाई 10, 1943 को अविभाजित भारत के सिंध प्रान्त में मुस्लिम लीग के साथ हिन्दू महासभा के गठबंधन को लेकर कॉन्ग्रेसी दुष्प्रचार को जवाब देते हुए ये बातें कहीं थीं।

ऑपइण्डिया के मुताबिक, सावरकर ने कहा था “परंतु यह टिप्पणी मन:पूर्वक की जाती तो मुझे प्रसन्नता होती। क्योंकि हिंदुओं पर यदि अत्यंत घिनौना, हीन आरोप करना हो तो वह ‘पाकिस्तानानुकूल’ और लीग को अथवा ‘मुसलमानों’ को संतुष्ट करने के लिए हिंदू हित का घात करनेवाला यह है, यह बात सीखने के लिए मैंने कॉन्ग्रेसवादी हिंदुओं को अंत में बाध्य किया। जैसा मैं बार-बार कहता था, उनके अनुसार कॉन्ग्रेसवादी हिंदुओं को केवल शरीर पर नहीं, कोट पर जनेऊ पहनकर हिंदू संघटनी सिद्धांतों का प्रचार करना पड़ा!

साभार-ऑपइण्डिया

 

loading...