पाकिस्तान की हुई इंटरनेशनल बेइज्जती, विदेश मंत्री कुरैशी के साथ चीन ने किया भिखारियों जैसा सलूक

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी की इंटरनेशनल बेइज्जती हुई है, ये बेइज्जती किसी और ने नहीं बल्कि पाकिस्तान के सदाबहार दोस्त चीन ने की है, जी हाँ! शी जिनपिंग ने महमूद कुरैशी की ऐसी बेइज्जती की जिसकी कल्पना कुरैशी ने सपनें में भी नहीं की होगी। इस बेइज्जती को कुरैशी अब शायद ही आजीवन भूल पायेंगें।

दरअसल कश्मीर मुद्दे पर इस्लामिक देशों में दाल न गलने के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी चीन के शरण में पहुँच गए हैं परन्तु चीन की धरती पर कदम रखती ही महमूद कुरैशी की बेइज्जती हुई, जी हाँ!

जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी एक दिवसीय दौरे पर चीन गए हुए हैं, कुरैशी जैसे ही चीन में एयरपोर्ट पर उतरे तो राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने वहां उनका स्वागत करनें के लिए प्रोटोकॉल के मुताबिक, किसी बड़े अधिकारी या नेता-मंत्री को नहीं भेजा बल्कि एक मामूली से हवलदार को भेजा। कुरैशी के लिए ये किसी अपमान से कम नहीं है क्योंकि वो एक मुल्क के विदेश मंत्री हैं और उन्हें एक मामूली हवलदार रिसीव कर रहा है।

आमतौर पर देखा जाता है कि जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसी विदेशी दौरे पर जाते हैं तो उस एयरपोर्ट पर स्वागत करनें के लिए या तो उस देश का प्रधानमंत्री आता है या राष्ट्रपति, यहाँ तक कि राष्ट्राध्यक्ष किसी बड़े अधिकारी से भी रिसीव करवाने की हिम्मत नहीं जुटा पाते हैं, लेकिन पाकिस्तान के विदेश मंत्री को चीनी पुलिस के एक मामूली हवलदार ने रिसीव किया।

आपको बता दें कि शाह महमूद कुरैशी पैसे की तलाश में चीन पहुंचे हैं, जिसे चीन पहले ही समझ रहा है, इसलिए शायद जिनपिंग ने सोंचा होगा भिखारी आया है इसलिए वैसा ही सलूक किया। बताया जा रहा है एक दिवसीय दौरे पर कुरैशी चीन से पैसे मांगेंगे और कश्मीर मुद्दे पर भारत को लेकर बातचीत करेंगें। ये सब करनें शाह महमूद कुरैशी इससे पहले सऊदी अरब गए थे लेकिन वहां कोई सुनवाई नहीं हुई।