बेंगलुरु: इफ्तार पार्टी दी, जय भीम-जय मीम की राजनीति की, फिर भी नहीं बख्से गए कांग्रेस के दलित MLA

Credit - Daily NV

बेंगलुरु, 13 अगस्त: कर्नाटक के बेंगलुरु में मंगलवार ( 11 अगस्त, 2020 ) को देर रात दंगे और आगजनी का भीषण नज़ारा देखने को मिला। इसका शिकार हुए कांग्रेस के दलित विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति और दो पुलिस स्टेशन, दंगाइयों ने विधायक का घर और पुलिस स्टेशन जला दिया, जमकर तोड़फोड़ की, लगभग 1000 की हजार की मुस्लिम भीड़ ने सिर्फ एक फेसबुक पोस्ट के लिए इतनी जबरदस्त हिंसा की।

1000 से भी अधिक की मुस्लिम भीड़ ने दलित समाज से ताल्लुक रखनें वाले स्थानीय कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर को घेर लिया और तोड़फोड़ शुरू कर दी। मुस्लिम हमलावरों का आरोप था कि विधायक के रिश्तेदार ने पैगम्बर मुहम्मद को लेकर फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट किया है।

कांग्रेस विधायक विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति दलित हैं। पुल्केशी नगर विधानसभा क्षेत्र भी SC समुदाय के लिए आरक्षित है, सोशल मीडिया पर अब विधायक की कुक तस्वीरें वायरल हो रही है, जिससे साफ़ अंदाजा लगाया जा सकता है कि कांग्रेस विधायक अव्वल दर्जे के कथित सेकुलर थे, इफ्तार पार्टी देते रहे, बराबर, मुस्लिम तुष्टिकरण करते रहे, स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दलित कांग्रेस विधायक जय भीम और जय मीम की रजननीति भी बहुत जबरदस्त तरीके से करते थे, इसके बावजूद मुस्लिमों ने उन्हें बख्शा नहीं।

जानकारी के अनुसार, कांग्रेस के दलित विधायक श्रीनिवास मूर्ति ने मुस्लिम तुष्टिकरण और जय भीम-जय मीम की राजनीति करते थे, ताकि मुसलमान खुश हो सके, अब इसी अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर को घेरकर मुस्लिमों ने राख कर दिया, इनकी बहन की स्तिथि ख़राब कर दी गई क्योंकि फेसबुक पर पोस्ट करने वाला विधायक का भांजा था और रिश्तेदारों की जान अब खतरे में है, जिस कांग्रेस पार्टी के लिए ये तुष्टिकरण राजनीती करते रहे अब उस कांग्रेस पार्टी ने भी इनका साथ छोड़ दिया है, इस समय विधायक का न तो उसकी पार्टी साथ दे रही है और न जय भीम-जय मीम की राजनीति।

loading...