अमेरिका भी करेगा चीन पर डिजिटल स्ट्राइक, टिक-टॉक होगा बैन, ट्रम्प बोले- 15 दिनों के अंदर समेटे कारोबार

दुनियाभर में कोरोना वायरस फैलानें का गुनहगार चीन अब चारों तरफ से घिरता जा रहा है, भारत ने चीन को आर्थिक चोट पहुंचानें की शुरुवात की और अब अमेरिका भी चीन को बड़ा झटका देने की तैयारी कर रहा है, राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने इसका ऐलान भी कर दिया है। भारत के बाद अमेरिका में भी चीनी शार्ट वीडियो ऐप टिक-टॉक बैन होनें के कगार पर है। कभी भी यह खबर आ सकती है कि भारत के बाद अमेरिका में बैन हुआ टिक-टॉक!

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने टिकटॉक को चेतावनी देते हुए कहा है कि या तो कंपनी 15 दिन के भीतर अपना कारोबार किसी अमेरिकी को बेचें नहीं तो टिक-टॉक कंपनी पर बैन लगा दिया जाएगा. ट्रंप ने यह चेतावनी राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े डेटा लीक मामले पर बोलते हुए दी।

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों को लेकर अमेरिका में टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने के लिये आपात आर्थिक शक्तियों अथवा शासकीय आदेश का इस्तेमाल कर सकते हैं, जिसके बाद माना जा रहा है कि कंपनी बेचने को लेकर कोई पहल कर सकती है।

इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ( आईटी क्षेत्र ) की दिग्गज कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने रविवार को पुष्टि की कि वह चीनी कंपनी बाइटडांस से उसके लोकप्रिय वीडियो ऐप टिकटॉक की अमेरिकी शाखा को अधिग्रहीत करने की बातचीत कर रही है. साथ ही कहा कि उसने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से ऐसी खरीद के संबंध में सुरक्षा और सेंसरशिप को लेकर उनकी चिंताओं पर चर्चा की है. जल्द ही इसपर कोई निर्णय आएगा।

उल्लेखनीय है कि लद्दाख में उपजे तनाव के बाद भारत ने न सिर्फ कई चीनी कंपनियों के साथ कॉन्ट्रैक्ट रद्द कर दिए बल्कि लोकप्रिय ऐप टिक-टॉक समेत 59 चाइनीज ऐप पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगा दिया। कुछ दिनों बाद भारत सरकार ने 47 चीनी ऐप और बैन कर दिए गए, ये सभी ऐप राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा थे, ऐप बैन होनें के बाद चीन को तगड़ा आर्थिक झटका लगा है।

loading...