पंजाब में जहरीली शराब का कहर जारी, मरने वालों की संख्या 98, राहुल-प्रियंका साध रखें है चुप्पी

पंजाब में जहरीली शराब का कहर जारी है, मरनेँ वालों का आंकड़ा रविवार को 98 हो गया है, पंजाब में पूर्ण बहुमत सी कांग्रेस की सरकार है, अगर यही किसी भाजपा साशित राज्य में होता तो अबतक राहुल-प्रियंका गाँधी कई ट्वीट करते, बयान देते देते, मुख्यमंत्री से इस्तीफ़ा तक मांगते लेकिन लेकिन पंजाब पर इनकी चुप्पी सवाल खड़ी करती है।

तरनतारन जिले में 12 और लोगों की मौत के साथ ही यह आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। हालाँकि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस मामले में एक्शन लेते हुए 13 अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये का मुआवजा देने का भी ऐलान किया है।

जहरीली शराब पीने से बीमार हुए लोगों का कहना है कि जब से उन्होंने शराब पी है, तभी से उन्हें देखने में समस्या हो रही है। एनबीटी के मुताबिक, तरनतारन में मृतकों की संख्या अब 75 हो गई है।

तरनतारन के अलावा अमृतसर में 12 और गुरदासपुर के बटाला में 11 लोगों की मौत की खबर है। यह पूरा मामला बुधवार शाम को शुरू हुआ था। अधिकारियों ने कहा कि कुछ परिवार तो अपने संबंधी की जहरीली शराब पीने से हुई मौत की रिपोर्ट दर्ज कराने भी आगे नहीं आ रहे हैं।

loading...