महाराष्ट्र में फिर खिल सकता है कमल, उद्धव सरकार से नाराज NCP के दर्जनों MLA थाम सकते हैं भाजपा का दामन

महाराष्ट्र, 10 अगस्त: राजस्थान में मचे सियासी घमासान के बीच अब महाराष्ट्र सरकार पर भी खतरा मंडराने लगा है, जी हाँ! अपनें सूत्रों के हवाले से रिपब्लिक टीवी ने दावा किया है कि महाराष्ट्र में एनसीपी के विधायक उद्धव ठाकरे सरकार के कामकाज से खुश नहीं हैं, जिसकी वजह से 12 विधायक इसी महीनें के अंत में भाजपा का दामन थाम सकते हैं, बताया जा रहा है एनसीपी के सभी 12 विधायक भाजपा के सम्पर्क में हैं. अगर ऐसा हुआ तो महाराष्ट्र में एक बार फिर से कमल खिलनें के रास्ते कुछ हद तक साफ़ हो जाएंगें।

रिपब्लिक टीवी को सूत्रों मुताबिक, एनसीपी के ये विधायक, महाविकास आघाड़ी सरकार के कामकाज के तरीके से खुश नहीं हैं। उन्हें अभी भी उन बातों को लेकर सुनाया जाता है, जब उन्होंने 2019 में महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और पार्टी के वरिष्ठ नेता अजित पवार का समर्थन कर भाजपा साथ मिलकर अल्पकालिक सरकार बनाई थी। हालाँकि एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मालिक ने इसे अफवाह बताया है।

नवाब मलिक ने दावा किया है कि कुछ लोग 12 एनसीपी विधायकों की बीजेपी में जाने की अफवाह फैला रहें है, यह बे बुनियाद और मनगढन्त खबर है, उलट चुनाव से पहले बीजेपी में गए विधायक एनसीपी में लौटने के लिए आतूर हैं लेकिन इस पर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है जल्द फैसला कर जानकारी सार्वजनिक की जाए गी।

मालूम हो कि अक्टूबर, 2019 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी-शिवसेना के गठबंधन ने चुनाव में स्‍पष्‍ट बहुमत हासिल किया था। लेकिन इसके बावजूद इस गठबंधन की सरकार नहीं बन सकी थी। मुख्‍यमंत्री किस पार्टी का हो, इसे लेकर बीजेपी और शिवसेना में गंभीर मतभेद उभर आए थे, सत्ता की लालच में शिवसेना ने अपने 30 साल पुराने गठबंधन के साथी भाजपा को छोड़कर कांग्रेस से हाथ मिला लिया, जिसकी विचारधारा कभी भी शिवसेना से मिलान नहीं करती थी.

विचारधारा से समझौता करके महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व में तीन पार्टी की सरकार बनी है, जिसमें शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी शामिल है, सीटों के हिसाब से महाराष्ट्र में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है।

loading...