2 दिन पहले शादी करके आई अमर दुबे की पत्नी को बनाया साजिशकर्ता, विकास दुबे की पत्नी को पुलिस ने दी क्लीन चिट

कानपुर, 10 जुलाई: यूपी पुलिस ने दो दिन पहले अमर दुबे नाम के एक बदमाश को एनकाउंटर में मार गिराया। अमर दुबे कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे का बॉडीगार्ड था और कानपुर के बिकरू गाँव में बदमाशों द्वारा की गई आठ पुलिसकर्मियों की ह्त्या में शामिल था। अमर दुबे के एनकाउंटर के बाद पुलिस ने उसकी नवविवाहिता पत्नी को गिरफ्तार कर साजिशकर्ता बना दिया।

यूपी एसटीएफ ने कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को भी आज मुठभेड़ में मार गिराया। गौरतलब है कि विकास दुबे को कल सुबह तकरीबन 10 बजे उज्जैन पुलिस ने महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया था, इसके बाद शाम को विकास दुबे की पत्नी और बेटे को लखनऊ के कृष्णानगर से गिरफ्तार कर लिया यूपी पुलिस ने। कानपुर में हुई जघन्य वारदात के बाद से ही विकास दुबे की पत्नी फरार थी।

विकास दुबे की पत्नी से कल ही पुलिस ने पूछताछ की और आज क्लीन चिट देकर छोड़ दिया। वहीँ अमर दुबे की पत्नी को साजिशकर्ता बना दिया। पुलिस की इस कार्यवाही पर सवाल उठ रहे हैं। कानपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि ऋचा ( विकास दुबे की पत्नी ) की कोई भूमिका नहीं मिली है।

पुलिस की कार्यवाही पर क्यों उठ रहे हैं सवाल

दरअसल 29 जून को विकास दुबे के बाडीगार्ड अमर दुबे की शादी हुई थी, 30 जून को अमर की पत्नी अपने मायके से विदा होकर बिकरू गाँव में अपनें ससुराल पहुंची था और 2 जुलाई को बिकरू गाँव में विकास दुबे ने अपनें साथियों के साथ मिलकर 8 पुलिसकर्मियों की ह्त्या कर दी। इसमें अमर दुबे भी शामिल था। अमर दुबे के एनकाउंटर के बाद पुलिस ने उसकी को गिरफ्तार कर लिया और साजिशकर्ता बना दिया।

अब आप खुद सोंचिये 2 दिन पहले शादी करके आई अमर दुबे की पत्नी साजिशकर्ता बन गई जबकि कई सालों से विकास के साथ रही विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे को पुलिस ने क्लीन चिट दे दिया। पुलिस की ये कार्यवाही गले नहीं उतर रही।

सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या दो दिन पूर्व विदा होकर आई नवविवाहिता इतनी बड़ी साजिश रच सकती है। पुलिस ने नवविवाहिता पर कार्रवाई करने से पहले किसी तरह की पूछताछ क्यों नहीं की। अगर दो दिन पहले शादी करके आई नवविवाहिता साजिश रच सकती है तो विकास दुबे की शादी हुये कई साल बीत चुके हैं। इसकी पत्नी साजिश क्यों नहीं रच सकती।

Sponsored Articles
loading...