खुलासा: पूरे रास्ते पुलिसकर्मियों को गाली देता आया विकास दुबे, खुली धमकी भी दे रहा था?

कानपुर, 11 जुलाई: आठ पुलिसकर्मियों का हत्यारोपी और कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को शुक्रवार को यूपी एसटीएफ ने कानपुर के भौंती में एनकाउंटर में ढ़ेर कर दिया। एनकाउंटर के बाद विकास दुबे का पोस्टमार्टम हुआ और भैरव घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। हालांकि विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद पुलिस पर सवाल भी उठनें लगे थे, कोई इस एनकाउंटर को फर्जी बता रहा है तो कोई सही बता रहा था, इन सब के बीच एक बड़ा खुलासा हुआ है, जी हाँ! हिंदुस्तान के मुताबिक, कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पूरे रास्ते पुलिसकर्मियों को गाली देता रहा।

हिंदुस्तान अख़बार की रिपोर्ट के मुताबिक, विकास दुबे जब यूपी पुलिस के साथ गाडी में बैठकर कानपुर के लिए रवाना हुआ तो पूरे रास्ते पुलिसकर्मियों को गाली और धमकी देते आया. बताया जा रहा है कि वकास जब उज्जैन से चला तो उसके चेहरे पर कोई सिकन नहीं थी, विकास पहले सफारी फिर दूसरी कार में पुलिसकर्मियों के बीच पिछली सीट पर बैठकर सचेंडी तक आया।

इसके बाद जब सचेंडी से गाडी आगे बढ़ी और पुलिस ने पूछताछ शुरू की तो विकास दुबे ने धमकी देते हुए कहा कि यह आठ की संख्या कब दुगुनी हो जायेगी। यह जल्दी ही तुमको पता चल जाएगा। और भी धमकी देता रहा। इससे साफ़ अंदाजा लगाया जा सकता है कि इतनी बड़ी घटना को अंजाम देनें के बाद भी विकास दुबे की दबंगई में कोई कमी नहीं आई थी।

इसके अलावा यूपी पुलिस ने उज्जैन में संपर्क करके इंट्रोगेशन रिपोर्ट मांगी है। वहां पर विकास दुबे ने कुछ ऐसे उद्योगपतियों के नाम बताये हैं, जिनके काले धन को सफ़ेद करानें का ठेका भी विकास दुबे के ही पास था। दुर्दांत अपराधी विकास दुबे का भले ही काम तमाम हो चुका है लेकिन अभी भी कई राज खुलनें बाकी हैं, अगर राज खुलेगा तो खाकी और खादी दोनों रडार पर आ सकती है।

गौरतलब है कि 2 जुलाई को कानपुर में चौबेपुर के बिकरू गांव में दबिश देनें गई पुलिस पर विकास दुबे और उसके साथियों ने प्लानिंग के तहत ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर आठ पुलिसकर्मियों की ह्त्या कर दी थी, इस वारदात में शामिल विकास दुबे सहित 6 अपराधियों का एनकाउंटर हो चुका है जबकि कई अपराधी गिरफ्तार हो चुके हैं।

Sponsored Articles
loading...