हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की माँ ने कहा- जहाँ दिखे गोली मार दो, शक्ल नहीं देखना चाहती ऐसी औलाद की

कानपुर, 3 जुलाई: यूपी पुलिस के आठ पुलिसकर्मियों का हत्यारोपी कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दूबे फरार चल रहा है, पुलिस उसको पकडनें के लिए उसके हर ठिकानों पर दबिश दे रहे रही है, इसी बीच विकास दुबे की माँ का बयान आया है।

विकास दुबे की माँ ने कहा, जहाँ दिखे गोली मार दो उसे, मैं शक्ल नहीं देखना चाहती ऐसी औलाद की, माँ ने कहा- विकास दुबे ने जो गुनाह किया है उसकी सजा जेल नही मौत है, उसकी मौत पर मेरी आँखों में एक बूंद भी आंसू नही आएंगे। विकास की मां लखनऊ के इंद्रलोक कॉलोनी में अपने छोटे बेटे के साथ रहती है।

मीडिया से बात करते हुए विकास दुबे की मां ने कहा कि जो पुलिसकर्मी शहीद हुए हैं, उनकी भी मां-बहन और बेटी होंगी जो उनको याद करके दुखी हो रही होंगी। ऐसे गलत काम करने वाले उनके बेटे को कानून जो भी सजा देगा उसमें उनको और उनके परिवार को कोई भी दुख नहीं होगा। साथ ही उन्होनें यह भी कहा कि, राजनीती ने विकास को बर्बाद कर डाला, राजनीति में जानें से पहले बढ़िया इंसान था।

बता दें कि कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के विकरू गांव में दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर बदमाशों ने फायरिंग कर दी, इसमें सीओ बिल्हौर सहित 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए हैं। एसओ बिठूर समेत 6 पुलिसकर्मी गम्भीर घायल हैं। सभी घायल पुलिसकर्मियों को गंभीर हालत में रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, विकास दुबे नाम के कुख्यात बदमाश और उसके साथियों ने छतों से पुलिस टीम पर गोलियां बरसाईं और हमले के बाद पुलिस के असलहे भी लूट ले गए।

कानपुर के राहुल तिवारी नाम के व्यक्ति ने 307 का एक मुकदमा विकास दुबे के ऊपर दर्ज कराया है। इस पर दबिश डालने के लिए एक बड़ी पुलिस टीम गुरुवार की दरम्यानी रात को विकास के घर पहुंची। पुलिस को रोकने के लिए बदमाशों ने पहले से ही जेसीबी वगैरा लगा कर के रास्ता रोक रखा था। पुलिस पार्टी के पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी जिसमें पुलिस के 8 लोग शहीद हो गए। पुलिस ने भी मौके पर दो बदमाशों को मार गिराया। एक विकास दुबे का मामा था।

Sponsored Articles
loading...