खुलासा: बिजली विभाग भी था विकास दुबे के सामनें नतमस्तक, यूज़ करता था लाखों की बिजली, लेकिन?

कानपुर, 19 जुलाई: कानपुर में चौबेपुर के बिकरू गाँव में 2 जुलाई को विकास दुबे समेत उसके साथी बदमाशों ने मिलकर 8 पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया था, इस घटना के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी विकास दुबे को भले ही एनकाउंटर में मर गिराया हो लेकिन उस केस की एक-एक परते अब खुलने लगी है।

कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे के सामनें सिर्फ कुछ पुलिसवाले नहीं बल्कि बिजली विभाग भी नतमस्तक था, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि विकास दुबे हर महीनें लाखों की बिजली यूज करता था लेकिन बिल मात्र 450 रूपये आता था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विकास दुबे के घर पर बिजली कनेक्शन सिर्फ एक किलो वाट का ही था. उस पर भी मीटर नहीं लगाया गया था और बिल का भुगतान न के बराबर था, बताया जा रहा है कि विकास की दबंगई के आगे मीटर लगाने और लोड बढ़ाने की हिम्मत बिजली विभाग की नहीं हुई. विकास दुबे की कोठी में चार एसी, दो फ्रिज,वाशिंग मशीन, 25 से 30 बल्ब, 12 पंखे, 20 सीसीटीवी कैमरे और सबमर्सिबल पंप लगा हुआ था।

यही नहीं विकास दुबे ने अपनें बाथरूम में भी पंखा लगवा रखा था, उसे गर्मीं बिल्कुल बर्दाश्त नहीं होती थी, सभी कमरों में हमेशा ऐसी चलती रहती थी, महीने में लाखों रुपए की बिजली फूंकी जा रही थी. लेकिन बिल महज 450 रुपए आता था, न्यूज़-18 के मुताबिक, बिजली विभाग के एसडीओ ने बताया कि विकास के घर पर एक किलो वाट का कनेक्शन होने की जानकारी उन्हें है। इसके अलावा और कोई स्पष्ट जवाब नहीं दे सके।

फिलहाल कानपुर बिकरू गाँव में हुई जघन्य वारदात हुई उसकी और विकास दुबे एनकाउंटर की एसआईटी जांच कर रही है, जल्द ही विस्तृत रिपोर्ट सौंपेगी। विकास दुबे एनकाउंटर मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुँच गया है, इससे पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट ने विकास दुबे एनकाउंटर के जांच की मांग करनें वाली एक यचिका को ख़ारिज कर दी।

loading...