पुलिसकर्मियों के हत्यारे विकास दुबे के 2 और साथियों को UP एसटीएफ ने एनकाउंटर में किया ढ़ेर

कानपुर, 9 जुलाई: गुरूवार ( 2 जुलाई 2020 ) देर रात कानपुर के बिकरू गाँव में हुई आठ पुलिसवालों की ह्त्या के मामलें में यूपी पुलिस ने अब कार्यवाही तेज कर दी है, ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर यूपी पुलिस के आठ जवानों को मौत के घाट उतारनें वाला कुख्यात बदमाश विकास दुबे फरार है लेकिन यूपी पुलिस एक-एक करके विकास दुबे के साथी बदमाशों का एनकाउंटर कर रही है। अमर दुबे के बाद अब पुलिस ने विकास दुबे के साथी प्रभात मिश्रा और बउआ दुबे को एनकाउंटर में ढ़ेर कर दिया है। प्रभात वही बदमाश है जिसे फरीदाबाद पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार किया था।

फरीदाबाद से यूपी एसटीएफ की टीम अपराधी प्रभात मिश्रा को ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ला रही थी, इसी दौरान प्रभात मिश्रा ने एसटीएफ के सिपाही का हथियार छीनकर फायरिंग की और भागनें की कोशिश की, इसके बाद जवाबी कार्यवाही में एसटीएफ ने पनकी में प्रभात मिश्रा को एनकाउंटर में ढ़ेर कर दिया।

इसके अलावा पुलिस ने विकास दुबे के साथी बउआ दुबे को भी एनकाउंटर में मार गिराया। पुलिस ने इटावा के बकेवर थाना क्षेत्र में बऊआ का एनकाउंटर किया। बऊआ दुबे अपने तीन अन्य साथियों के साथ एक एक स्विफ्ट डिजायर कार को लूटकर भागने के प्रयास में था। लेकिन पुलिस की गोली लगनें के बाद सीधा नरक लोक पहुँच गया।

बता दें कि कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की तलाश के लिए साठ टीमों में 1500 पुलिस कर्मी लगाए गए हैं। क्राइम ब्रांच की 12 टीमें और एसटीएफ की टीमें दबिश दे रही हैं, हर जिले में सर्विलांस सेल लगी है। बिकरू के आसपास दो दर्जन गांवों में पुलिस ने तलाशी अभियान चलाया। शहर में उसके एक दर्जन ठिकानों पर दबिश दी गई। पुलिस ने विकास दुबे पर इनामी राशि बढ़ाकर 5 लाख कर दिया है।

Sponsored Articles
loading...