अब होगा न्याय: दुर्दांत अपराधी मुख़्तार अंसारी के गुर्गे का दो मंजिला मकान किया गया कुर्क

कानपुर में हुई जघन्य वारदात के बाद अब योगी सरकार ने एक बार फिर से अपराधियों पर एक्शन लेना शुरू कर दिया है, यूपी पुलिस ने दुर्दांत अपराधी श्री प्रकाश मिश्रा उर्फ झुन्ना पंडित की 60 लाख की सम्पत्ति कुर्क कर दी। झुन्ना पंडित दुर्दांत अपराधी मुख़्तार अंसारी गैंग का गुर्गा है।

उत्तर प्रदेश और दिल्ली में 10 हत्याओं में वांछित कुख्यात गैंगस्टर श्री प्रकाश मिश्रा उर्फ झुन्ना पंडित को एक साल पहले पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार किया था। झुन्ना पर यूपी पुलिस ने एक लाख रुपये का इनाम रखा था। वाराणसी में दिव्यांग हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त श्रीप्रकाश मिश्र उर्फ़ झुन्ना पंडित के वाराणसी के लालपुर-पाण्डेयपुर थाना क्षेत्र के लालपुर चौकी अंतर्गत हाशिमपुर में स्थित दो मंज़िला मकान को गैंगेस्टर एक्ट 14(1) के तहत कुर्क किया गया। इस दौरान एडीएम सिटी, एसपी सिटी और एसीएम चतुर्थ शुभांगी शुक्ला के साथ चार थानों की फ़ोर्स मौके पर मौजूद रही।

एडीएम सिटी गुलाबचंद ने बताया कि जिलाधिकारी के आदेशनुसार श्रीप्रकाश मिश्रा उर्फ़ झुन्ना पंडित पुत्र नंदलाल मिश्रा नि‍वासी झोरी थाना बलुआ जिला चंदौली, का एक मकान हाशिमपुर रामदत्तपुर थाना लालपुर पांडेयपुर वाराणसी में आराजी संख्या 155 में रकबा 81.784 वर्ग मीटर मौजा हाशिमपुर में बने दो मंजीला मकान व रकबा 111.514 वर्ग मीटर को गैंगेस्टर एक्ट 14(1) के तहत कुर्क करने की कार्रवाई की गयी है। इसकी कीमत तकरीबन 60 लाख रूपये है। गैंगस्टर झुन्ना पंडित जिस पर 40 से अधिक मुकदमे है। इसके आलावा मुख़्तार अंसारी के तीन गुर्गों मोहम्मद सालिम, नूरुद्दीन आरिफ और मसूद आलम के शस्त्र लाइसेंस कैंसल कर दिए गए हैं।

बता दें कि श्रीप्रकाश मिश्रा उर्फ़ झुन्ना पंडित का आका मुख़्तार अंसारी एक कुख्यात अपराधी है, मुख़्तार अंसारी पिछले 15 सालों से जेल में बंद है। उस पर मर्डर, किडनैपिंग और एक्सटॉर्शन जैसे मामलों में 40 से ज्यादा केस उसके खिलाफ दर्ज हैं। मुख़्तार अंसारी जेल में रहते हुए भी अपने गैंग चलाता है। हैरानी की बात यह है कि कुख्यात अपराधी मुख़्तार अंसारी लगातार पांच बार विधायक भी बन चुका है। 2005 में भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या से भी मुख़्तार अंसारी का नाम जुड़ा था।