पूछताछ में विकास दुबे ने खोले कई राज, पुलिस के साथ संबंधों का भी किया खुलासा

उज्जैन, 9 जुलाई: गुरूवार ( 2 जुलाई 2020 ) देर रात कानपुर के बिकरू गाँव में हुई आठ पुलिसवालों की ह्त्या करके फरार विकास दुबे आखिरकार पुलिस की पकड़ में आ गया है, विकास दुबे को उज्जैन से गिरफ्तार किया गया। चौबेपुर के विकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की शहादत का मास्टरमाइंड विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया है।

गिरफ़्तारी के बाद पुलिस विकास दुबे से पूछताछ कर रही है, पूछताछ में विकास दुबे ने कई खुलासे किये हैं, विकास दुबे ने अपनें मुंह से बताया कि उसनें पुलिसकर्मियों पर गोलियां क्यों बरसाई।

कुख्यात बदमाश विकास दुबे ने पूछताछ में बताया कि, एनकाउंटर के डर से उसनें पुलिसवालों पर गोलियां बरसाकर ह्त्या की, साथ पुलिस के साथ संबंधों को भी स्वीकार किया। इसके अलावा यह भी बताया कि सिर्फ चौबेपुर थानें के नहीं और थाने के पुलिसकर्मीं भी संपर्क में थे। विकास दुबे ने कहा कि, मुझे सूचना था कि – पुलिस रेड मारनें आएगी और मेरा एनकाउंटर हो सकता है, सूचना मिलनें के बाद मैनें अपनें साथियों को हथियार के साथ बुलाया।

पुलिस से पूछताछ में विकास दुबे ने बताया कि – हमारी योजना पुलिसकर्मियों की ह्त्या करके उनके शवों को जलाना था ताकि किसी प्रकार का कोई सबूत न रह जाए, इसके लिए कई लीटर मिटटी के तेल का भी इंतजाम किया था, लेकिन जलानें में सफल नहीं हुए। क्योंकि घायल पुलिसकर्मियों ने आगे पुलिस को इस घटना की सूचना दे दी। इसके अलावा विकास दुबे ने कहा कि, मैनें अपने साथियों को अलग-अलग जगह भागनें के लिए कहा था।

फ़िलहाल उज्जैन पुलिस विकास दुबे से पूछताछ की जा रही है, आगे और भी कई खुलासे हो सकते हैं, विकास दुबे को कोर्ट में पेश किया जाएगा, उसके बाद विकास दुबे यूपी पुलिस के हवाले किया जाएगा।

गौरतलब है कि विकास दुबे और उसके साथियों ने 2 जुलाई की रात कानपूर में चौबेपुर के बिकरू गांव में दबिश देने गई पुलिस पर ताबड़तोड़ गोली बरसा दी, यूपी पुलिस के आठ जवान इस गोलीकांड में शहीद हो गए थे, विकास दुबे और उसके साथी मौके से फरार हो गए थे। लेकिन विकास दुबे के कई साथी एनकाउंटर में मारे जा चुके हैं जबकि विकास दुबे समेत कई गिरफ्तार हो चुके हैं।

Sponsored Articles
loading...