राफेल के आनें से देश में ख़ुशी की लहर लेकिन कांग्रेस नेता सुरजेवाला ने फिर उठाया ये सवाल

नई दिल्ली, 29 जुलाई: राफेल लड़ाकू विमान आज भारत पहुँच गया, 5 राफेल विमानों का पहला जत्था फ्रांस से भारत पहुंच गया है। सभी पाँचों राफेल विमान अंबाला एयरबेस पर सुरक्षित लैंड हुए। पानी की बौछार से स्वागत किया, राफेल के आने से देश में ख़ुशी की लहर है तो वहीँ कांग्रेस ने फिर से राजनीति शुरू कर दी। कांग्रेस का कहना है कि आज हर देशभक्त को पूछना चाहिए कि ₹526 करोड़ का एक रॉफेल अब ₹1670 करोड़ में क्यों?

कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने अपनें ट्वीट में लिखा, ‘राफेल का भारत में स्वागत ! वायुसेना के जाबांज लड़ाकों को बधाई। उन्होंने आगे लिखा, आज हर देशभक्त यह ज़रूर पूछे कि 526 करोड़ रुपये का एक राफेल अब 1670 करोड़ रुपये में क्यों?

सुरजेवाला ट्वीट में आगे लिखते हैं 126 राफेल की बजाय 36 राफेल ही क्यों? मेक इन इंडिया के बजाय मेक इन फ्रांस क्यों ? 5 साल की देरी क्यों? गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी पहले भी राफेल की कीमतों पर सवाल उठाती चली आ रही है, केंद्र सरकार ने गोपनीयता की डील करार देते हुए राफ़ेल की कीमत बतानें से इन्कार कर दिया।

आपको बता दें कि पिछले कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल गांधी कई बार राफेल की अलग-अलग कीमत बता चुके हैं, पहले 520करोड़, 526करोड़,540करोड़ और 740 करोड़, मतलब कांग्रेस पार्टी अभी खुद ही तय नहीं कर पा रही थी की आखिर उसनें राफेल का सौदा कितनें में किया था।

भारतीय वायु सेना के लिए ऐतिहासिक क्षणों के बीच बुधवार को राफेल लड़ाकू विमानों का पहला जत्था भारत पहुंच गया। फ्रांस से खरीदे गए ये राफेल लड़ाकू विमान अंबाला एयरबेस पर उतरे। रक्षा विशेषज्ञों के मुताबिक, जरूरत पड़ने पर राफेल विमान को भारत-चीन विवाद के बीच लद्दाख में एक हफ्ते के भीतर तैनात भी किया जा सकता है, आमतौर पर 6 महीनें लगते हैं तैयार होनें में। भारतीय वायु सेना के पायलट जिन्होंने राफेल विमान के उड़ान की ट्रेनिंग ली है वही विमान उड़ाकर लेकर भारत आ रहे हैं।

 

loading...