वायरल हुआ कानपुर शूटआउट का एक और ऑडियो, शशिकांत की पत्नी को थी हत्यारों के हर मूवमेंट की जानकारी

कानपुर, 15 जुलाई: कानपुर में चौबेपुर के बिकरू गाँव में 2 जुलाई को विकास दुबे समेत उसके साथी बदमाशों ने मिलकर 8 पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया था, इस घटना के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी विकास दुबे को भले ही एनकाउंटर में मार गिराया हो लेकिन उस केस की एक-एक परते अब खुलने लगी है।

मंगलवार को पुलिस ने विकास दुबे के सहयोगी फरार अपराधी और 50 हजार के इनामी शशिकांत उर्फ सोनू पांडेय को गिरफ्तार कार लिया, इसके बाद शशिकांत की पत्नी का ऑडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वह कहती है मेरे आंगन में पुलिस वाले हैं, इन्हें विकास भैया ने मारा है। अब शशिकांत की पत्नी का एक और सनसनीखेज ऑडियो वायरल हुआ है जो साजिश से भरपूर लगता है, ऑडियो सुनने के बाद साफ़ अंदाजा लगाया जा सकता है कि पुलिसकर्मियों की ह्त्या के बाद सारे हत्यारे कहाँ भागे थे उसकी हर जानकारी शशिकांत की पत्नी के पास थी।

एनकाउंटर में मारे गए आठ पुलिसकर्मियों के मुख्य हत्यारोपी विकास दुबे के मामा के लड़के शशिकांत पांडेय की पत्नी का दूसरा ऑडियो वायरल हुआ है। जिसमें वह अपने किसी रिश्तेदार (शायद भाई) से बात कर रही है।

वायरल ऑडियो में शशिकांत की पत्नी कहती हैं, मेरा ये नंबर जिसके जिसके पास है, वो मोबाइल से डिलीट कर दो, हम ये मोबाइल नहीं खोल पा रहे है। सिम तोड़ नहीं पा रहे हैं। बहुत ज्यादा दिक्कत होने वाली है। कल्लू पकड़ गया है। बतातें चलें कि शशिकांत की पत्नी शायद उसी कल्लू की बात कर रही हैं जो सबसे पहले गिरफ्तार हुआ था, जिसका नाम दयाशंकर अग्निहोत्री था। जो विकास दुबे का बहुत करीबी है।

इसके बाद शशिकांत की पत्नी कहती हैं, जिसके पास तुम कर सकते हो सबके मोबाइल, देखो अगर तुम्हारे आसपास पुलिस हो तो हम तुमसे बात करना चाहे तो तुम एक बार खांस देना तो हम जानेंगे कि पुलिस है। अम्मा के पास, बड़े पापा के पास जिसकेे पास भी ये नंबर है सब डिलीट कर दो। दूसरी तरफ से कहा जाता है कि बात सुनो, नाम नहीं लेंगे जो भी है जैसा भी है अपनी जगह पे हैं, ठीक है। फिर शशिकांत की पत्नी कहती हैं, पता है। सुनिए पूरा ऑडियो!


बता दें कि आज गिरफ्तार किये गए विकास दुबे के साथी अपराधी शशिकांत की निशानदेही पर वारदात में लूटी गई इंसास राइफल व एके 47 और कारतूस बरामद किए गए। गौरतलब है कि वारदात में शामिल विकास दुबे समेत 5 अपराधियों को पुलिस ने एनकाउंटर में ढ़ेर कर दिया जबकि कई अपराधी गिरफ्तार हो चुके हैं, मामलें की जांच करनें के लिए स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम ( एसआईटी ) गठित कर दी गयी है, एसआईटी जल्द ही अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।