भारत पर हिन्दुओं से ज्यादा मुसलमानों और ईसाईयों का हक़ है, शशि थरूर ने किया समर्थन, जानें पूरा मामला

congress-leader-shashi-tharoor-attack-hindi-and-hindu

जैसा की पहले से ही चला आ रहा है मीडिया और स्वघोषित बुद्धिजीवियों का एक बड़ा गिरोह बार-बार यह साबित करनें की कोशिश करता रहता है कि भारत में मुस्लिमों पर अत्याचार किया जा रहा है और वो पीड़ित हैं।

वामपंथी न्यूज़ पोर्टल “द वायर” में एक लेख छपा है, इसको लिखा है बद्री रैना ने, बद्री रैना के मुताबिक, भारत पर मुसलमानों और ईसाइयों ज्यादा अधिकार है, क्योंकि वो अपने मृतकों को जलाते नहीं हैं, बल्कि उन्हें जमीन में दफन करते हैं। बद्री रैना के इस इस परपंच का कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने भी समर्थन किया है।

बद्री रैना ने “द वायर” में एक ड्राइवर के हवाले से सारा परपंच गढ़ा है, रैना के मुताबिक, ड्राइवर की शक्ल अमेरिका के दिवंगत सोलहवें राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन से मिलती थी, उत्तर प्रदेश के एक ट्रिप के दौरान मुलाकात हुई थी।

बद्री रैना का ये लेख कांग्रेस सांसद शशि थरूर को रास आ गया। थरूर ने ट्विटर पर इस लेख को शेयर करते हुए सवाल दाग दिया कि जिन लोगों के शरीर से हमारे देश की मिट्टी उर्वर बनती है, क्या उनका हमारे देश पर ज्यादा हक नहीं है? हालाँकि शशि थरूर ने इस लेख का समर्थन किया है अर्थात माना है कि भारत पर हिन्दुओं से ज्यादा मुसलमानों और ईसाईयों का हक़ है, इससे किसी को हैरानी नहीं होनी चाहिए। क्योंकि इससे पहले कांग्रेस नेता डॉ. मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री रहते हुए कहा था कि देश के संसाधनों पर सबसे पहला हक मुसलमानों का है।

loading...