राम मंदिर भूमिपूजन के दिन कश्मीर में बड़े हमलें की फ़िराक में आतंकी, सुरक्षा एजेंसियाँ अलर्ट

5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर का भूमिपूजन होना है, बताते चलें कि पिछले साले 5 अगस्त को मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटा दिया था, यानि 5 अगस्त को इस ऐतिहासिक निर्णय के 1 वर्ष पूरे हो जाएँगे। जम्मू कश्मीर में आतंकी इस दौरान किसी बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में हैं। राज्य में सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है। ताकि आतंकी अपनें नापाक मंसूबों में कामयाब न हो पाएं। उल्लेखनीय है कि 370 हटनें के बाद आतंकी और कुछ नेता बिलबिलाये हुए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस वर्ष अमरनाथ यात्रा को भी रद्द कर दिया गया है। इसके पीछे कोरोना संक्रमण एक मुख्य वजह तो थी ही, साथ ही आतंकियों के खतरों को देखते हुए भी सरकार ने ये फैसला किया। ‘दैनिक जागरण’ ने केन्द्रीय सुरक्षा एजेंसी के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से बताया है कि जम्मू-कश्मीर में सक्रिय आतंकियों पर पाँच अगस्त को कुछ बड़ा करने के लिए दवाब बनाया जा रहा है। इससे सुरक्षा बलों के कान खड़े हो गए हैं।

इस संबंध में स्पष्ट खुफिया इनपुट मिले हैं। खुफिया सूचनाओं में कहा गया है कि फिलहाल आतंकियों की कमर टूटी हुई है, जिसके कारण वो किसी भी हमले को अंजाम देने में सक्षम नहीं हैं। लेकिन, ISIS की ओर से उन पर दबाव बनाया जा रहा है कि 5 अगस्त को वो कुछ बड़ा करें। इसके लिए वो जम्मू कश्मीर में नेताओं या तैनात सुरक्षा बलों को निशाना बनाने की फिराक में हैं। फिलहाल कश्मीर में किसी भी आतंकी हमलें को नाकमयाब करनें के लिए भारतीय सेना पूरी तरह मुस्तैद है, 370 हटनें के बाद सेना ने घाटी में आतंकियों की कमर तोड़कर रख दी है।

बता दें कि अब वो घडी दूर नहीं जब अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा, जी हाँ! 5 अगस्त को अयोध्या में राममंदिर का भूमिपूजन होगा। भूमिपूजन में शामिल होनें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अयोध्या जायेंगें, इससे पहले शनिवार को सीएम योगी आदित्यनाथ राम मंदिर भूमिपूजन की तैयारियों की समीक्षा करने शनिवार (जुलाई 25, 2020) को अयोध्या पहुँचे। उन्होंने हनुमानगढ़ी में हनुमान जी के दर्शन किए। इस दौरान सीएम योगी ने राम मंदिर के नक़्शे को भी देखा।

loading...