कुख्यात बदमाश विकास दुबे के साथ कनेक्शन निकलनें के बाद समाजवादी पार्टी ने चली ये चाल

कानपुर, 3 जुलाई: शुक्रवार सुबह उत्तर प्रदेश के कानपुर से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई, जिसे सुनकर पूरा देश थर्रा गया। चौबेपुर थाना क्षेत्र के विकरू गांव में दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर बदमाशों ने फायरिंग कर दी, इसमें सीओ बिल्हौर सहित 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए हैं। एसओ बिठूर समेत 6 पुलिसकर्मी गम्भीर घायल हैं। सभी घायल पुलिसकर्मियों को गंभीर हालत में रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, विकास दुबे नाम के कुख्यात बदमाश और उसके साथियों ने छतों से पुलिस टीम पर गोलियां बरसाईं और हमले के बाद पुलिस के असलहे भी लूट ले गए।

इस घटना के बाद पूरे प्रदेश में उस वक्त सनसनी मच गई जब कुख्यात बदमाश विकास दुबे और समाजवादी पार्टी का सम्बन्ध सामनें आया, सोशल मीडिया पर हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की पत्नी का एक पोस्टर वायरल हो रहा है जिसमें उसका कनेक्शन समाजवादी पार्टी से साफ़ दिखाई दे रहा है। कुख्यात बदमाश के साथ फोटो वायरल होनें के बाद समाजवादी पार्टी ने अपना बचाव करनें के लिए जुट गई है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता इन्द्रप्रताप सिंह ( IP ) सिंह ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे पोस्टर को गलत बताया है, साथ ही अपनी बात को मजबूती देनें के लिए एक या पोस्टर शेयर किया है ट्विटर पर। सपा प्रवक्ता ने जो पोस्टर पोस्ट किया है वो नीले रंगे का है जिसमें विकास दुबे खुद और उसकी पत्नी नजर आ रही हैं। पोस्टर शेयर करते हुए आईपी सिंह ने लिखा है, सही पोस्टर भी देख लो सुशांत सिन्हा ( सपा और विकास के सम्बन्ध वाला पोस्टर पत्रकार सुशांत ने पोस्ट किया था ) और भाजपा मंत्री के साथ विकास की फ़ोटो मिली या ज़मीर बेच देने के कारण दिखी नहीं?

Image

सोशल मीडिया पर जो समाजवादी पार्टी और हिस्ट्रीशटर विकास दुबे के कनेक्शन वाला पोस्टर वायरल हो रहा है, उसमें दावा किया जा रहा है कि ये पोस्टर उस वक्त का है, जब रिचा दुबे घिमऊ से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ रही थीं। पोस्टर में मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव की तस्वीरें भी साफ दिखाई दे रही हैं। हालाँकि समाजवादी पार्टी और विकास दुबे का क्या कनेक्शन है ये जाँच का विषय है।

बता दें कि कानपुर के राहुल तिवारी नाम के व्यक्ति ने 307 का एक मुकदमा विकास दुबे के ऊपर दर्ज कराया है। इस पर दबिश डालने के लिए एक बड़ी पुलिस टीम विकास के घर पहुंची। पुलिस को रोकने के लिए बदमाशों ने पहले से ही जेसीबी वगैरा लगा कर के रास्ता रोक रखा था। पुलिस पार्टी के पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी जिसमें पुलिस के 8 लोग शहीद हो गए। पुलिस ने भी मौके पर दो बदमाशों को मार गिराया। एक विकास दुबे का मामा था।

Sponsored Articles
loading...