ज्योतिरादित्य ने किया इशारा, कांग्रेस उनके दोस्त सचिन पायलट का करेगी अपमान तो लाएंगे BJP में

sachin-pilot-sidelined-and-pressurized-by-rajasthan-cm-says-jyotiraditya-scindia

जयपुर, 12 जुलाई: भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया बहुत दुखी हैं क्योंकि राजस्थान में उनके दोस्त सचिन पायलट का अपमान हो रहा है, कांग्रेस पार्टी ने सचिन पायलट को साइडलाइन कर दिया है, इसी तरह से पहले मध्य प्रदेश में कमलनाथ ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को साइडलाइन किया था तो उन्होंने भाजपा से मिलकर कमलनाथ की कांग्रेस सरकार गिरा दी और आसमान में उड़ रहे कमलनाथ को जमीन पर ला दिया।

आज ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्विटर पर लिखा – मेरे दोस्त सचिन पायलट को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा साइडलाइन किये जाने और परेशान करने से दुखी हूँ, यह साबित करता है कि टैलेंट और सामर्थ्य की कांग्रेस पार्टी के स्थान नहीं है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बीजेपी पर अपनी सरकार गिराने का आरोप लगाया है। राजस्थान में चल रहे सियासी ड्रामों के बीच शनिवार (11 जुलाई) को सीएम अशोक गहलोत ने रात साढ़े 8 बजे कैबिनेट बैठक बुलाई है। बैठक में लगभग सभी मंत्रियों ने हिस्सा लिया। लेकिन 2 घंटे चली इस बैठक में राजस्थान सरकार के डिप्टी सीएम सचिन पायलट मौजूद नहीं थे। सचिन पायलट की गैरमौजूदगी की वजह से कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सचिन पायलट अशोक गहलोत से नाराज बताये जा रहे हैं, इसीलिए मीटिंग में शामिल नहीं हुए, यही नहीं वह करीब 19 कांग्रेसी विधायकों को लेकर दिल्ली चले आये हैं, बताया जा रहा है कि ये सचिन पायलट गुट के हैं। अब राजस्थान में सियासी समीकरण उसी तरह बने गए हैं, जैसे कुछ महीनों पहले मध्यप्रदेश में बनें थे।

अब देखना यह दिलचस्प होगा कि क्या अशोक गहलोत अपनी कुर्सी बचानें में कामयाब होते हैं या नही। मध्यप्रदेश में तो कमलनाथ अपनी कुर्सी नहीं बचा पाए थे। यह भी रिपोर्ट मिली है कि सचिन पायलट ने दिल्ली में ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाक़ात की है। हो सकता है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की तरह सचिन पायलट भी भाजपा में शामिल हो जाएं और राजस्थान में फिर से भगवा झंडा फहरा दिया जाए।

loading...