गहलोत की कुर्सी गई, कल भाजपा का दामन थामेंगे सचिन पायलट

राजस्थान में अब वही होने जा रहा है जो कुछ महीनों पहले मध्य प्रदेश में हुआ था और ये बात अब पूरी तरह स्पष्ट हो चुकी है, क्योंकि अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट आमने-सामनें आ गए हैं, कांग्रेस के दिग्गज नेता सचिन पायलट अपने गुट के 20-22 कांग्रेसी विधायकों के साथ दिल्ली आ गए हैं. वहीँ अब सचिन पायलट को कण्ट्रोल करनें के लिए अशोक गहलोत ने पुलिस का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है।

वहीँ अब खबर आ रही है कि सचिन पायलट कल 13 जुलाई को शामिल होंगें कि, एबीपी न्यूज़ के पत्रकार विकास भदौरिया ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात और मंजूरी के बाद सचिन पायलट जेपी नड्डा की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल होंगे। हालाँकि ये खबर अभी सूत्रों के हवाले से है।

बता दें कि राजस्थान में सियासी संकट के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कल विधायक दल की बैठक बुलाई है, लेकिन इस बैठक में सचिन पायलट नहीं शामिल होंगें। इसके बाद से ही अटकलें लगाई जा रही है कि सचिन पायलट अब भाजपा में शामिल होनें का मन बना चुके हैं. सचिन पायलट के खेमें में 30 कांग्रेसी विधायक और 3 निर्दलीय विधायक हैं, जो सचिन पायलट के कहनें पर किसी भी तरफ मुड़ सकते हैं।

बता दें कि सियासी संकट उस वक्त गहरा गया जब राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त के मामले में सचिन पायलट को ही एटीएस और एसओजी की ओर से पूछताछ का नोटिस भेज दिया गया। इसे सचिन पायलट का अपमान के तौर पर भी देखा जा रहा है। शायद इसके बाद ही सचिन पायलट ने कांग्रेस से बगावत करनें का फैसला लिया।

Sponsored Articles
loading...