आपस में लड़ रहे कांग्रेसी: अशोक गहलोत ने बताया नाकारा-निकम्मा, अब आया सचिन पायलट का बयान

जयपुर, 20 जुलाई: राजस्थान में कांग्रेस पार्टी अब आपस में लड़ रही है, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट द्वारा एक दूसरे पर जमकर वार-पलटवार किया जा रहा है, गहलोत ने तो आज सचिन पायलट को नाकारा निकम्मा तक कह दिया, गहलोत के बयान के बाद अब सचिन पायलट की प्रतिक्रिया आई है।

मंत्रिपद और कांग्रेस अध्यक्ष पद से बर्खास्त किये गए कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा कि गहलोत द्वारा लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद और निराधार हैं, मेरी छवि खराब करनें की कोशिश की जा रही है, पायलट ने कहा, मैं ऐसे आरोपों से दुखी हूं, लेकिन आश्चर्यचकित नहीं हूं।

पायलट ने कहा, गहलोत द्वारा जानबूझकर ऐसी बयानबाजी की जा रही ताकि ताकि राजस्थान में पार्टी नेतृत्व को लेकर कांग्रेस के सदस्य और विधायक के रूप में मेरी वाजिब चिंताओं को दबाया जा सके। मुझे बदनाम करवाने और मेरी विश्वसनीयता को कम करने की कोशिश है।

बता दें कि अशोक गहलोत ने सोमवार को पायलट पर हमला बोलते हुए कहा कि सचिन पायलट राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष रहे हैं लेकिन उन्होंने षड्यंत्र रचा. गहलोत ने आगे कहा कि 10-12 साल में उन्हें पार्टी ने सब कुछ दिया। 7 साल में केवल राजस्थान ही एकमात्र ऐसा राज्य हैं जहां प्रदेश अध्यक्ष को बदलने की कभी किसी ने मांग नहीं की जबकि सब जानते थे कि वो निकम्मे हैं, नकारा हैं, गहलोत ने कहा, सचिन पायलट ने बहुत गंदा खेल खेला..लोगों को लड़वाने का काम किया..कांग्रेस की पीठ में छुरा घोंपा।

बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने सचिन पायलट को सिर्फ मंत्रिपद और प्रदेश अध्यक्ष पद से बर्खास्त किया है, पायलट की प्राथमिक सद्स्य्ता अभी भी बरकरार है, इसके बावजूद अशोक गहलोत जोरदार हमला बोल रहे हैं, इससे साफ़ होता है कि कांग्रेस पार्टी में आंतरिक कलह की जड़ें काफी लम्बी हो चुकी हैं।