नीता अंबानी ने कहा – भारत के गरीब से गरीब तक पहुंचाउंगी कोरोना की वैक्सीन, कोई चिंता न करे

मुंबई, 17 जुलाई: चीन के वुहान शहर से फैला कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है, रोजाना कोरोना के मामलों में वृद्धि हो रही है, इस अदृश्य वायरस से पूरी दुनिया जंग लड़ रही है। भारत समेत दुनिया के अलग-अलग देश कोरोना की वैक्सीन बनानें में लगे हुए हैं परन्तु अभी किसी को पूर्ण रूप से सफलता नहीं प्राप्त हुई है हालाँकि अमेरिका, ब्रिटेन और रूस ने वैक्सीन बनानें का दावा किया है, ह्यूमन ट्रायल भी किया किया जा चुका है। लेकिन जबतक वैक्सीन पूर्ण रूप से तैयार होकर मार्केट न आ जाय तब तक पूर्ण विश्वास नहीं किया जा सकता है, क्योंकि इससे पहले इजराइल और नीदरलैंड ने भी वैक्सीन बनानें का दावा किया था लेकिन सब हवाहवाई साबित हुए।

बात की जाय भारत की तो यहाँ 130 करोड़ से ज्यादा आबादी है और बड़ी आबादी गरीब है, अटकलें लगाई जा रही कि अगर वैक्सीन लॉन्च भी होगी तो कोई न कोई प्राइवेट कंपनी ही लांच करेगी, और वैक्सीन की कीमत क्या होगी ये कोई नहीं जानता, कीमत अपने मनमाफिक कम्पनी ही तय करेगी।

देश में कोरोना का जड़ से खात्मा तभी होगा जब गरीबों तक वैक्सीन पहुंचेगी, और इसका जिम्मा रिलायंस फाउंडेशन की नीता अंबानी ने अपने कन्धों पर लिया है, देश के कोने-कोने तक वैक्सीन पहुंचानें का।

15 जुलाई को रिलायंस कंपनी की एनुअल जनरल मीटिंग थी और इस मीटिंग में नीता अंबानी पहली बार बोली, ये मीटिंग हर साल होती है और लेकिन रिलायंस के इतिहास में नीता अम्बानी ने पहली बार इस मीटिंग को सम्बोधित किया और बड़ा ऐलान कर दिया।

रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन नीता अम्बानी ने कहा कि हम आप लोगों को विश्वास दिलाना चाहते हैं कि जब यह वैक्सीन आएगी, तब देश के हर शख्स तक इसे पहुंचाने के लिए रिलायंस फाउंडेशन जियो के डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर का इस्तेमाल करेगा और काम को जल्द से जल्द पूरा करने की कोशिश की जाएगी। सप्लाई चेन सिस्टम को ज्यादा स्मूद बनाया जाएगा, ताकि जल्द से जल्द लोगों को इस बीमारी से सुरक्षित किया जा सके। कोई चिंता न करे.

बता दें कि भारत में कोरोना मरीजों की संख्या 10 लाख के पार जा चुकी है, जबकि अबतक इस महामारी से 25 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, राहत की बात यह है कि भारत में रिकवरी रेट बहुत बढ़िया है, 60 फीसदी से ज्यादा, मतलब ज्यादातर कोरोना मरीज ठीक होकर घर जा रहे हैं।