गोरखपुर: महमूद उर्फ जुम्मन को हुई उम्रकैद की सजा, दुष्कर्म करने का आरोप हुआ सिद्ध

साभार - न्यूज़-18

गोरखपुर, 28 जुलाई: महमूद उर्फ जुम्मन बाबा व परवेज परवाज पर दुष्कर्म करने का आरोप सिद्ध हो गया है. ऐसे में मंगलवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश गोविंद बल्लभ शर्मा ने इन्हें कठोर आजीवन कारावास ( उम्रकैद ) एवं 25-25 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है।

राजघाट थाना क्षेत्र के तुर्कमानपुर मुहल्ला निवासी आरोपी महमूद उर्फ जुम्मन बाबा व परवेज परवाज दो साल से जेल में बंद है, पीड़ित पक्ष की ओर से अधिवक्ता यशपाल सिंह का कहना था कि पीड़िता ने थाना राजघाट में इस आशय की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. उसने तहरीर में लिखा था कि ‘वह अपने पति से अलग रहती है। वह झाड़-फूंक के लिए मगहर मजार जाती थी जहां उसे महमूद उर्फ जुम्मन बाबा मिले. उन्होंने कई दरगाहों पर झाड़ फूंक की जिससे मुझे राहत मिली.

उन्होनें बताया कि तीन जून 2018 को उन्होंने ( जुम्मन ) रात साढ़े 10 बजे पांडेयहाता के पास दुआ करने के बहाने बुलाया और एक सुनसान स्थान पर ले गए. वहां उन्होंने और उनके साथ मौजूद एक शख्स ने रेप किया.उस शख्स को जुम्मन, परवेज भाई बोल रहे थे। घटना के बाद हमने मोबाइल से 100 नंबर पर फोन किया, तब पुलिस आई और हमें साथ ले गई।

आपको बता दें कि दुष्कर्म का आरोपी महमूद उर्फ जुम्मन बाबा व परवेज परवाज वही सख्श है जिसनें 2007 में गोरखपुर दंगों को लेकर तत्कालीन सांसद योगी आदित्यनाथ ( अब मुख्यमंत्री यूपी ) पर केस दर्ज कराया था।

Sponsored Articles
loading...