बड़ा खुलासा: राहुल गाँधी ने सचिन पायलट को 18 महीनें मुख्यमंत्री बनानें का वादा किया थी, लेकिन,..?

जयपुर, 15 जुलाई: राजस्थान में मचे सियासी घमासान के बीच कांग्रेस पार्टी ने बड़ा एक्शन लेते हुए सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष पद और मंत्रिपद से बर्खास्त कर दिया। अब सचिन पायलट से लेकर बड़ा खुलासा हुआ है।

एबीपी न्यूज़ के रिपोर्टर आदेश रावल ने ट्वीट कर दावा किया है कि राहुल गांधी ने सचिन पायलट को आख़िरी के 18 महिने के लिए मुख्यमंत्री बनाने का वादा किया था लेकिन सहमति नहीं बन सकी। आदेश रावल ने अपनें ट्वीट में लिखा, राहुल गांधी ने सचिन पायलट को आख़िरी के 18 महिने के लिए मुख्यमंत्री बनाने का वादा कर दिया था लेकिन पायलट चाहते थे कि उन्हें अभी मुख्यमंत्री बनाया जाए जिसपर सहमती नही बन पायी। 10 बजे की बैठक को इसीलिए 12 तक स्थगित किया गया था क्योंकि प्रियंका गांधी आख़िर तक पायलट से बात कर रही थी।

गौरतलब है कि सचिन पायलट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कामकाज से खुश नहीं थे और खुद मुख्यमंत्री बनना चाहते थे, लेकिन गहलोत ऐसा होनें नहीं देना चाह रहे थे। इसके बाद सचिन पायलट नाराज हो गए और 20 विधायकों के साथ दिल्ली में आ गए. कांग्रेस के कई सीनियर नेताओं ने सचिन पायलट को मनानें की कोशिश की लेकिन पायलट मानने को तैयार नहीं हुए. यहाँ तक कि सचिन पायलट ने विधायक दल की बैठक में भी हिस्सा नहीं लिए, इसके बाद कांग्रेस ने सचिन पायलट के खिलाफ कड़ी कार्यवाही का मन बना लिया। हालाँकि इसके बाद भी पायलट को मौक़ा दिया। लेकिन पायलट नहीं माने, फिर कांग्रेस ने सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री पद और प्रदेश अध्यक्ष पद से सस्पेंड कर दिया।

दिल्‍ली से जयपुर गए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने सचिन पायलट की बर्खास्तगी का ऐलान किया, उनकी जगह पर ओबीसी नेता गोविंद सिंह डोटासरा को प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया है। जोकि राजस्थान के शिक्षामंत्री भी हैं।

सुरजेवाला ने बर्खास्तगी का ऐलान करते हुए सचिन पायलट को खूब कोसा, उन्‍होंने यह जता दिया कि पार्टी ने पायलट को मनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। इसके अलावा सुरजेवाला ने सचिन पायलट को इशारों इशारों में बिकाऊ और गद्दार बता दिया। सुरजेवाला ने कहा कि सचिन पायलट बीजेपी के साथ मिलकर कांग्रेस की सरकार गिराना चाहते थे।

Sponsored Articles
loading...