राफेल ने फ़्रांस से भरी भारत के लिए उड़ान, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ “भाग पप्पू_राफेल आया”

दुनिया का सबसे अत्याधुनिक फाइटर जेट राफेल फ़्रांस से भारत के लिए उड़ान भर चुका है, राफेल के भारत आने की खबर सुनकर देशवासियों में ख़ुशी की लहर है तो वहीँ ट्विटर पर राहुल गांधी का मजाक उड़ाया जा रहा है, ट्रेंड चल रहा है, “भाग पप्पू_राफेल आया” बता दें कि राफेल विमान बुधवार को हरियाणा के अम्बाला स्थित एयरबेस पर लैंड करेंगें। राफेल को 29 जुलाई को वायुसेना में शामिल किया जाएगा।

“भाग पप्पू_राफेल आया” ट्रेंड पर ट्विटर यूजर राहुल गाँधी के उन बयानों, वीडियो को ट्वीट कर रहे हैं जिनमें राहुल गांधी राफेल पर तमाम सवाल करते थे, मजे की बात यह है कि राहुल गांधी कई बार राफेल के अलग- अलग दाम बता चुके हैं. राहुल गांधी के ये सब वीडियो आज सोशल मीडिया पर छाये हुए हैं। एक तरह से यह भी कहा जा सकता है कि राफेल को भारत आने से रोकनें के लिए भारत की कुछ राजनैतिक पार्टियों मुख्य रूप से कांग्रेस ने बहुत कोशिश की लेकिन सब नाकाम हो गए और अब राफेल विमान दो दिन के अंदर भारत में होगा।

आपको बता दें कि राफेल के विरोध में राहुल गांधी इस कदर पागल हो चुके थे कि 5 महीने के अंदर उन्होंने चार बार राफेल के अलग-अलग दाम बताये। इससे यह भी साफ हो गया कि यूपीए कार्यकाल में एक राफेल विमान की असल में कीमत कितनी थी? जवाब अस्पष्ट है क्योंकि तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद ही इस बारे में पूरी तरह आश्वस्त नजर नहीं आते थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक राफेल विमान करीब 716 करोड़ रुपये का पड़ रहा है, जो कि कांग्रेस के सौदे से काफी सस्ता है, मोदी सरकार ने फ्रांस के साथ हुए समझौते में ‘गोपनीयता’ की शर्त का हवाला देकर इस विमान की खरीद कीमत का खुलासा करने से इंकार कर दिया था।

आपको बता दें कि फ़्रांस से उड़ान भर चुका राफेल 10 घंटे की दूरी तय करने के बाद सयुंक्त अरब अमीरात में फ्रांस के एयरबेस अल धफरा एयरबेस पर लैंड करेगा। ईंधन वगैरा चेक करनें के बाद अगले दिन राफेल विमान अम्बाला के लिए उड़ान भरेगा। जरूरत पड़ने पर राफेल विमान को भारत-चीन विवाद के बीच लद्दाख में एक हफ्ते के भीतर तैनात भी किया जा सकता है, राफेल फाइटर जेट अत्याधुनिक है और इनमे कई ऐसे फीचर है जो दुसरे विमानों में नहीं है, चीन के पास राफेल का कोई तोड़ नहीं हैराफेल विमान मीटोर एयर टू एयर मिसाइल से सुसज्जित होगा, जिसकी मार्क क्षमता 150 किलोमीटर है. यह बिना सीमा पार किये दुश्मन देश के विमान को तबाह कर सकता है. चीन पाकिस्तान के पास ये क्षमता नहीं है।