कमलनाथ बनें रामभक्त तो भड़के इस्लामवादी, MP कॉन्ग्रेस से नफरत करते हैं, दोबारा वोट मांगने मत आना

5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर का भूमिपूजन होना है, राम मंदिर शिलान्यास से एक तरफ देश में ख़ुशी की लहर है तो वहीँ कुछ लोगों को तकलीफ भी है।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कॉन्ग्रेस नेता कमलनाथ ने अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के निर्माण का स्वागत किया है। कमलनाथ ने शुक्रवार को जारी एक वीडियो संदेश में कहा कि देशवासियों को लम्बे समय से इसकी अपेक्षा और आकांक्षा थी। मंदिर निर्माण हर भारतीय की सहमति से हो रहा है और यह केवल भारत में ही संभव है। इस वीडियो में कमलनाथ के पीछे भगवान हनुमान की तस्वीर भी नजर आ रही थी। कभी अपने को हनुमान भक्त और कभी शिवभक्त दिखाने वाले कमलनाथ अब राम भक्त के रूप में हैं। हालाँकि कमलनाथ का ये वीडियो सन्देश इस्लामवादियों को रास नहीं आया और सुनाने लगे कमलनाथ को खरी-खोटी।

एक ट्विटर यूजर फ़राज़ ने कमलनाथ के इस वीडियो के जवाब में लिखा है कि राम मंदिर पर आपके इस नजरिए का अंजाम आपको अगले चुनाव में भुगतना पड़ेगा। वहीं, आफताब अहमद मलिक ने इस वीडियो के जवाब में बेहद निराशाजनक भाव में लिखा है कि वो MP कॉन्ग्रेस से नफरत करते हैं और अब तक वो कमलनाथ के समर्थक थे, लेकिन अब से नहीं हैं।

खान साहेब नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा, हर भारतवासी नहीं बे, 20 करोड़ मुस्लिम और कुछ हिन्दू उसे बाबरी मस्जिद ही मानते हैं और हमेशा मानते रहेंगें। हिंदुत्व वोट नहीं मिलनें वाला है तुम्हें और मुस्लिम वोट की भीख मत मांगनें आना दोबारा।

loading...