मायावती की मांग, दगाबाजी और असंवैधानिक काम करने वाले अशोक गहलोत सरकार को किया जाए बर्खास्त

mayawati-demand-president-rule-in-rajasthan-criticize-ashok-gahlot

लखनऊ, 18 जुलाई: बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने केंद्र सरकार ने मांग की है कि राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार को तुरंत बर्खास्त करके वहां पर राष्ट्रपति शासन लगाया जाए ताकि राज्य में लोकतंत्र की और ज्यादा दुर्दशा ना हो।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राजस्थान में कांग्रेसी नेता आपस में ही लड़ रहे हैं, कांग्रेस पार्टी में दो गुट बन गया है – सचिन पायलट ग्रुप और अशोक गहलोत ग्रुप। सचिन पायलट का ग्रुप हरियाणा के मानेसर में आकर एक होटल में रुक गया है, अशोक गहलोत भी अपने विधायकों को एक होटल में ठहराकर वहीं से सरकार चला रहे हैं ।

राजस्थान की राजनीतिक उठाकर पर मायावती ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा – जैसाकि विदित है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत ने पहले दल-बदल कानून का खुला उल्लंघन व बीएसपी के साथ लगातार दूसरी बार दगाबाजी करके पार्टी के विधायकों को कांग्रेस में शामिल कराया और अब जग-जाहिर तौर पर फोन टेप कराके इन्होंने एक और गैर-कानूनी व असंवैधानिक काम किया है।

इस प्रकार, राजस्थान में लगातार जारी राजनीतिक गतिरोध, आपसी उठा-पठक व सरकारी अस्थिरता के हालात का वहाँ के राज्यपाल को प्रभावी संज्ञान लेकर वहाँ राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश करनी चाहिए, ताकि राज्य में लोकतंत्र की और ज्यादा दुर्दशा न हो।