शहीद जवान की पत्नी ने JNU स्कॉलर साजिद सईद को लताड़ा, कहा- देशद्रोह में तुंरत हो सजा

फोटो साभार - पत्रिका

नई दिल्ली, 26 जुलाई: भारतीय सेना के खिलाफ आपत्तिजनक ट्वीट करनें वाले जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी ( जेएनयू ) के स्कॉलर साजिद बिन सईद को बलिदानी JNU ने लताड़ा है और देशद्रोह के तहत तुरंत सजा की मांग की है।

शहीद रवि खन्ना की पत्नी निर्मल खन्ना ने कहा कि कुत्ते भी ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ से अच्छे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को देशद्रोह क़ानून के अंतर्गत तुरंत सज़ा दी जानी चाहिए। बतातें चलें कि जेएनयू छात्र सईद ने भारतीय सेना और आरएसएस पर कश्मीरियों के विनाशकारी नरसंहार ’का आरोप लगाया था।

निर्मल खन्ना ने कहा कि वो एक जेएनयू स्कॉलर की तरफ से इस प्रकार के अर्थहीन बयान से बेचैनी महसूस कर रही हैं। उन्होंने कहा कि साजिब बिन सईद को अपने बयान में भारतीय सेना को बदनाम करने के लिए खुद पर शर्म आनी चाहिए। निर्मल खन्ना ने कहा कि ऐसे अच्छी तरह पढ़े-लिखे लोगों द्वारा देश व जनता की सुरक्षा करने वाले सेना के प्रति इस तरह के विचार रखना काफी दर्द देने वाला है।

उन्होनें कहा राष्ट्र के खिलाफ बोलने के लिए ऐसे लोगों पर देशद्रोह का मुकदमा चलाया जाना चाहिए। ऐसे लोग, जो खुलेआम देश के प्रति गद्दारी को प्रदर्शित करते हैं और भारतीय सुरक्षा बलों को बदनाम करते हैं, उनके खिलाफ सरकार को कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। देश के खिलाफ साँठगाँठ करने वालों इन लोगों को ऐसी सज़ा दी जानी चाहिए कि ये भविष्य के लिए भी सबक हो। बता दें कि निहत्थे रवि खन्ना और उनके साथियों को यासीन मालिक और उसके गैंग ने तब मार डाला था जब वे लोग श्रीनगर में बस का इन्तजार कर रहे थे।

जेएनयू स्कॉलर साजिद बिन सईद ने अपने ट्वीट में BJP पर कश्मीर में नरसंहार करने का आरोप लगाया और कहा, भारतीय सेना कश्मीरियों पर नरसंहार करती है, जो आरएसएस की तरफ से तैयार किया जाता है। भाजपा सरकार को अपने क्षेत्रीय लालच को रोकना चाहिए और संयुक्त राष्ट्र द्वारा कश्मीरियों के आधिकार स्वीकार करने के लिए तैयार रहना चाहिए. अंतर्राष्ट्रीय निकायों द्वारा इस मुद्दे पर हस्तक्षेप करने का यही सही समय है। साजिद ने ये ट्वीट 11 जुलाई को किया था।

loading...