महाकाल मंदिर की लेडी सिंघम ने बताया- कैसे की गई विकास दुबे की पहचान और गिरफ़्तारी, पूरी कहानी

उज्जैन, 9 जुलाई: गुरूवार ( 2 जुलाई 2020 ) देर रात कानपुर के बिकरू गाँव में हुई आठ पुलिसवालों की ह्त्या करके फरार विकास दुबे आखिरकार पुलिस की पकड़ में आ गया है, विकास दुबे को उज्जैन महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया। लोगों के मन में एक सवाल लगातार उठ रहा है कि आख़िरकार विकास दुबे की पहचान कैसे की गई और पुलिस ने कैसे गिरफ्तार किया है, इस सवाल का जवाब दिया है खुद महाकाल मंदिर की सुरक्षा अधिकारी रूबी यादव ने।

कैसे हुए विकास दुबे की गिरफ़्तारी
रूबी यादव ने मीडिया से बातचीत में बताया कि सुबह तकरीबन साढ़े 7 बजे के आसपास जब हमारी टीम गस्त कर रही थी तभी एक फूलवाले ने एक संदिग्ध व्यक्ति की जानकारी दी, रूबी यादव ने बताया कि सूचना मिलनें के बाद मैंने अपनी टीम से कहा कि जब तक हम कन्फर्म नहीं हो जाते तब तक उसको पकड़ना नहीं है, विकास दुबे बाहर घूम रहा था। उसने 250 रुपये का टिकट लिया और शंख द्वार से एंट्री की, तब तक हमारी टीम ने उस पर कोई एक्शन नहीं लिया था।

फोटो से की गयी विकास दुबे की पहचान
आजतक के मुताबिक, सुरक्षा अधिकारी रूबी यादव ने बताया कि – मैंने अपने सिक्युरिटी गार्ड से फोटो भेजने के लिए कहा, जो फोटो मेरे पास आई, उसमें उसका हुलिया बदला हुआ था। उसकी पहचान कर पाना मुश्किल लग रहा था, मैंने अपनी टीम को उसपर नजर को कहा। जितनी देर में उसने दर्शन किए, उतनी देर में मैंने गूगल कर उसकी तस्वीर खंगाल ली। गूगल सर्च में वांटेड फोटो में उसके सिर पर चोट का निशान था। मेरे गार्ड ने जो फोटो भेजा था, उसे फिर मैंने जूम करके देखा तो उसके माथे पर चोट के निशान थे। इसके बाद मैं कन्फर्म हो गई कि ये विकास दुबे है।

विकास दुबे ने दिखाया फर्जी आई कार्ड
रूबी ने बताया – मैनें अपनी टीम को कहा कि उसको पकड़ो और उससे उसका आईडी कार्ड चेक करो। जब गार्ड ने उसको पकड़ा तो उसनें अपना नाम शुभम बताया जबकि उसके पास नवीन पाल नाम का आधार कार्ड था, जब विकास दुबे को पकड़ा गया तो वो किसी बँटी को चिल्लाया और इशारा किया की विडीओ बनाओ बुलाया। इसके बाद मैनें पुलिस को जानकारी दे दी और पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

नदी में नहाकर आया था महाकाल का दर्शन करनें
इसके अलावा रूबी ने बताया कि, विकास दुबे सिप्रा नदी में नहाकर महाकाल का दर्शन करनें आया था, उसनें आत्मसमर्पण नहीं किया है बल्कि उसे गिरफ्तार किया गया। उसनें हमारे एक गार्ड से हाथपाई भी की।

Sponsored Articles
loading...