कानपुर कांड में UP पुलिस की बड़ी कार्यवाही, हिरासत में लिए गए चौबेपुर थाना अध्यक्ष विनय तिवारी

कानपुर, 4 जुलाई: गुरूवार ( 2 जुलाई 2020 ) देर रात कानपुर के बिकरू गाँव में हुई आठ पुलिसवालों की ह्त्या के मामलें में यूपी पुलिस ने अब कार्यवाही तेज कर दी है, पुलिस पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर यूपी पुलिस के आठ जवानों को मौत के घाट उतारनें वाला कुख्यात बदमाश विकास दुबे फरार है लेकिन कथित तौर पर बदमाशों को पुलिस के मूवमेंट की जानकारी देनें के आरोप में यूपी एसटीएफ ने चौबपुर थानाध्यक्ष को हिरासत में ले लिया है.

मीडिया रिपोर्ट्स को मुताबिक़, पुष्पराज सिंह को नया चौबेपुर थाने का नया अध्यक्ष बनाया गया और तत्कालीन चौबेपुर थाने के थानाध्यक्ष विनय तिवारी को हटा दिया गया है, एसटीएफ हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. बड़ी जानकारी निकलकर सामनें आ सकती है।

यूपी STF के द्वारा सभी चश्मदीद और जो संदेह के घेरे में हैं, उनसे पूछताछ की जा रही है. विनय तिवारी पर इसलिए भी ज्यादा संदेह गहराया क्योंकि वह विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम में सबसे पीछे थे. जब पुलिस पर बदमाशों ने हमला किया तो वह मौके से भाग निकले।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, बिकरू गांव ( जहाँ वारदात हुई ) चौबेपुर थानाक्षेत्र में आता है, जब दबिश दी गई तो बाकी थानों की फोर्स एसओ और सीओ आगे बढ़ गए मगर एसओ चौबेपुर विनय तिवारी जेसीबी के पीछे रहे जबकि थानाक्षेत्र उनका था, इलाके में लगाए गए बीट कांस्टेबल उन्हें रिपोर्ट करते थे। गांव की भौगोलिक स्थिति के बारे में उन्हें ज्यादा जानकारी थी। उसके बाद भी वह आगे नहीं बढ़े। इसी मामले में एसटीएफ के अधिकारियों ने देर शाम एसओ चौबेपुर से भी पूछताछ की। लेकिन अब हिरासत में ले लिया है।

विकास दुबे को पूरी कन्फर्म सूचना था कि पुलिस देर रात कितने बजे रेड मारने आएगी और कितने थानों की फोर्स के साथ सीओ आ रहे हैं। तभी विकास दुबे भागनें के बजाय पूरी तैयारी के साथ छतपर बैठकर पुलिसवालों पर गोलियां बरसाकर आठ पुलिसवालों की ह्त्या कर दी।

loading...